32.1 C
Delhi
Saturday, June 25, 2022

विशेषज्ञों का कहना- यदि अभी भी नहीं चेते तो आने वाले दिनों में कोरोना संक्रमण दर बढ़ सकती है।

राजधानी में लगातार कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। यही वजह है कि कोरोना के नए मामले कम मिलने के बावजूद संक्रमण दर कम नहीं हो रही है। यह इस बात का संकेत है कि संक्रमण लोगों के बीच में मौजूद होने के साथ फैल रहा है। ऐसे में विशेषज्ञों का कहना है यदि अभी भी नहीं चेते तो आने वाले दिनों में संक्रमण दर बढ़ सकती है।

दिल्ली में बीते एक दिन में कोरोना के 1060 नए मामलों के साथ संक्रमण दर 10.09 फीसदी दर्ज की गई, जोकि 25 जनवरी को दर्ज 10.6 फीसदी के बाद सबसे अधिक थी। इसे लेकर एम्स के डॉक्टर संजय राय कहते हैं कि बेशक मामले कम हो रहे हैं लेकिन संक्रमण दर बढ़ रही है। यह चिंताजनक है और लोगों को अधिक सतर्क होने की जरूरत है। चार महीने बाद संक्रमण दर इतनी अधिक हो गई है। ऐसे में संक्रमण तेजी से फैल रहा है और अधिक लोगों को संक्रमित कर रहा है।

डॉक्टर संजय राय का कहना है कि वायरस में म्यूटेशन में हो रहा है। ऐसे में यह और भी संक्रामक हो रहा है। जो लोग संक्रमित हो रहे हैं, उनमें हल्की खांसी, बुखार व जुकाम जैसे लक्षण मिल रहे हैं। वहीं, बीते कई दिनों से मास्क व शारीरिक दूरी में लापरवाही देखी जा रही है। ऐसे में यह मरीज बाजार, मेट्रो स्टेशन, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड व अन्य सार्वजनिक स्थलों पर अन्य लोगों को भी संक्रमित कर रहे हैं। लोकनायक अस्पताल के चिकित्सा निदेशक डॉ. सुरेश कुमार कहते हैं कि यह देखने में आया है कि लोग अस्पताल पहुंचने पर भी मास्क का प्रयोग नहीं कर रहे हैं।

राजधानी में बीते 24 घंटे में कोरोना के 1383 नए मामले मिले हैं, जबकि एक मरीज की मौत हुई। नए मामलों के साथ संक्रमण दर में कमी हुई है। बीते एक दिन में ही संक्रमण दर 10.09 फीसदी से नीचे लुढ़ककर 7.22 फीसदी पर पहुंच गई है। राहत की बात यह भी है कि 1162 मरीजों ने कोरोना को मात दी है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, बीते एक दिन में कोरोना के 19165 टेस्ट किए गए हैं। इसमें से 12112 आरटपीसीआर व 7053 एंटीजन टेस्ट हुए हैं। होम आइसोलेशन में 3964 मरीज उपचाराधीन हैं। अस्पतालों में मरीजों की संख्या 264 दर्ज की गई है, जिसमें आईसीयू पर 75, ऑक्सीजन सपोर्ट पर 64 व वेंटिलेटर पर 11 मरीज भर्ती हैं।

anita
anita
Anita Choudhary is a freelance journalist. Writing articles for many organizations both in Hindi and English on different political and social issues

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,362FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles