10.1 C
Delhi
Wednesday, January 26, 2022

पिछले दो वर्ष में जंगल और हरियाली में भारत ने 2,261 वर्ग किमी का इजाफा किया 

पर्यावरण संरक्षण व स्वच्छ वातावरण के लिए सबसे जरूरी जंगल और हरियाली में भारत ने 2,261 वर्ग किमी का इजाफा पिछले दो वर्ष में किया। इसमें 1,540 वर्ग किमी वन क्षेत्र और 721 वर्ग किमी वृक्ष आवरण (ट्री कवर) है। यह विश्व के 57 देशों के कुल क्षेत्रफल से अधिक है। नई वृद्धि में आंध्र प्रदेश ने सर्वाधिक 647 वर्ग किमी का योगदान दिया।

केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय द्वारा बृहस्पतिवार को जारी भारतीय वन सर्वेक्षण (एफएसआई) की द्वि-वर्षीय रिपोर्ट में यह तथ्य सामने आए।

 

पिछली रिपोर्ट : 8,07,276 वर्ग किमी फॉरेस्ट और ट्री-कवर। कुल क्षेत्रफल का 24.56 फीसदीताजा रिपोर्ट : 8,09,537 वर्ग किमी हुआ, जो कुल क्षेत्रफल का 24.62 प्रतिशत है।क्षेत्रफल के लिहाज से मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा जंगल इसके बाद अरुणाचल प्रदेश, छत्तीसगढ़, ओडिशा और महाराष्ट्र में जंगल बढ़े

केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने कहा कि भारत न केवल वन संरक्षण, बल्कि उन्हें समृद्ध करने पर काम कर रहा है। जन को जंगल व जमीन से जोड़े रखने की परंपरा को आगे बढ़ाया जा रहा है। 72.04 करोड़ टन कार्बन का जंगलों में भंडार में होने का अनुमान है।

 

उत्तर प्रदेश: 12 वर्ग किलोमीटर बढ़ा वनक्षेत्र…कुल क्षेत्रफल का 7.22 फीसदी

उत्तर प्रदेश के कुल क्षेत्रफल का 7.22 प्रतिशत इलाका वन क्षेत्र है। 2019 के मुकाबले वन क्षेत्र में 12 वर्ग किलोमीटर की बढ़ोतरी हुई है। प्रदेश का कुल क्षेत्रफल 2,40,928 वर्ग किलोमीटर है और यहां 17,384 वर्ग किमी क्षेत्र जंगल है। आरक्षित वन क्षेत्र 11,560 वर्ग किमी, संरक्षित वन 296 वर्ग किमी, जबकि गैर वर्गीकृत वन क्षेत्र 5,528 वर्ग किमी है। राज्य में पेड़ों का आच्छादन 7421 वर्ग किमी पर दर्ज किया गया है।

कितना वर्ग किमी भू भाग काजंगल वनक्षेत्रप्रतिशतउत्तराखंड38,00071 प्रतिशतहिमाचल37,94868.16 प्रतिशतदिल्ली1036.95 प्रतिशतपंजाब3,0846.12 प्रतिशतहरियाणा15593.53 प्रतिशत

anita
Anita Choudhary is a freelance journalist. Writing articles for many organizations both in Hindi and English on different political and social issues

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,136FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles