38.1 C
Delhi
Wednesday, May 18, 2022

जमीन से आसमान तक पहरा, दूरबीन व एंटी एयरक्राफ्ट गन के साथ पुलिसकर्मी तैनात

आतंकी हमले के गंभीर इनपुट को देखते हुए गणतंत्र दिवस समारोह की सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। नई दिल्ली एरिया मंगलवार रात से ही छावनी में तब्दील हो गया है। दिल्ली पुलिस, एनएसजी, व पैरा मिलिट्री फोर्स ने नई दिल्ली जिले की सुरक्षा का जिम्मा संभाल लिया था। चप्पे-चप्पे पर पुलिस व पैरा-मिलिट्री फोर्स को तैनात कर दिया गया था।

नई दिल्ली एरिया को अभेद किले के रूप में तब्दील कर दिया गया था। जमीन से आसमान तक सुरक्षा व्यवस्था के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। राजपथ पर 500 सीसीटीवी कैमरों के अलावा राजपथ से जुड़े मार्गों पर 100 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरें लगाए गए हैं। इन कैमरों के कई जगह कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। इनमें भारी संख्या में पुलिसकर्मी 24 घंटे नजर रख रहे हैं।

दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सोमवार रात 12 बजे से दिल्ली की सभी सीमाएं सील कर दी गई है। बॉर्डरों पर दिल्ली पुलिस व पड़ोसी राज्यों की पुलिस ने संयुक्त रूप से चेकिंग शुरू कर दी थी।

कड़ी चेकिंग के बाद ही वाहनों को दिल्ली में प्रवेश दिया जाएगा।  दिल्ली पुलिस प्रवक्ता कार्यालय के अनुसार दिल्ली पुलिस व अद्र्धसैनिक बल मंगलवार रात को दिल्ली को पूरी तरह सील कर देंगे।  मुख्य आयोजन स्थल राजपथ सहित राष्ट्रपति भवन, इंडिया गेट के अलावा लाल किला तक अलग-अलग सुरक्षा घेरा बनाया गया है।

सीनियर पुलिस अधिकारी आधी रात से खुद गश्त करने उतरेंगे। स्वात टीमों को हर तरह की परिस्थितियों से मुकाबला करने के लिए कई महत्वपूर्ण जगहों पर मुस्तैद कर दिया गया है। सभी बीट में तैनात पुलिस कर्मियों व थाना पुलिस को अपने-अपने इलाके में लगातार गश्त कर हर व्यक्ति पर नजर रखने को कहा गया है।

पुलिस ने परेड व झांकी के रूट के आसपास स्थित सभी ऊं ची इमारतों को सोमवार शाम छह बजे के बाद अपने कब्जे में ले लिया था। एयरक्रॉफ्ट गन व दूरबीन से लैस कमांडों इमारतों पर तैनात कर दिए गए थे। ऊंची इमारतों पर दिल्ली पुलिस के शार्प शूटरों को तैनात कर दिया गया था।सड़कों पर वाहनों की गहन जांच शुरू कर दी गई थी।

सुरक्षा की दृष्टि से दिल्ली को 30 से ज्यादा सेक्टरों में बांटा गया था। हर सेक्टर की जिम्मेदारी एक वरिष्ठ अफसर को दी गई थी। दिल्ली के सभी बाजार, मॉल व महत्वपूर्ण इमारतों की सुरक्षा को कड़ा कर दिया गया था।

दिल्ली पुलिस अधिकारियों की माने तो इस बार आईएसआई द्वारा प्रायोजित आतंकवाद समेत खालिस्तानी आतंकियों द्वारा हमले के सीरियस इनपुट्स है। ये भी इनपुट है कि सीएए व एनआरसी के आंदोलन के वांछितों से आईएसआई हाथ मिला चुकी है। वह इनसे आतंकी वारदात करवा सकती है। ऐसे में इस बार गणतंत्र दिवस के मौके पर परेड के अलावा महत्वपूर्ण इमारत, भीड़भाड़वाले बाजार व ऐतिहासिक इमारतों की सुरक्षा को कड़ा किया गया है। दिल्ली पुलिस सुरक्षा में कई कमी नहीं छोडना चहाती है।

anita
anita
Anita Choudhary is a freelance journalist. Writing articles for many organizations both in Hindi and English on different political and social issues

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,312FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles