प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को देश में कोरोना वायरस से संबंधित स्थिति और टीकाकरण अभियान की समीक्षा के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की। बैठक के एक दिन पहले केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा था कि भारत अभी भी कोरोना की दूसरी लहर से गुजर रहा है और यह अभी खत्म नहीं हुआ है।

उन्होंने कहा था कि देश के 35 जिले अभी भी साप्ताहिक कोविड सकारात्मकता दर 10 फीसद से अधिक की रिपोर्ट कर रहे हैं, जबकि यह 30 जिलों में पांच से 10 फीसद के बीच है। भारत की आधी से अधिक वयस्क आबादी को एंटी-कोरोनावायरस वैक्सीन की कम से कम एक डोज मिली है, जबकि 18 फीसद को दोनों डोज लग चुके हैं। इसके साथ ही केंद्र सरकार ने गुरुवार को कहा था कि देश में कोरोना के टीकाकरण की कुल संख्या 72 करोड़ को पार कर गई है।

देश में कल 34,973 नए कोरोना के मामले दर्ज किए गए, जो पिछले दिन की तुलना में 19 फीसद कम हैं। समाचार एजेंसी रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, पिछले कुछ महीनों में भारत ने कई और अस्पतालों में नए बेड की व्यवस्था की है। इसके साथ ही 100 से अधिक ऑक्सीजन टैंकर आयात किए हैं, जो कुल मिलाकर लगभग 1,250 हैं। इस बीच केंद्र सरकार ने अस्पतालों में लगभग 1,600 ऑक्सीजन प्लांट्स के निर्माण को मंजूरी दे दी है। हालांकि पिछले महीने की शुरुआत में 300 से कम स्थापित किए गए थे, क्योंकि आयात में समय लगता है।

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने को लेकर सभी राज्य विशेष बाल चिकित्सा वार्ड तैयार कर रहे हैं। कुछ विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि छोटे बच्चे किसी भी नए कोरोना वायरस की चपेट में आ सकते हैं। वहीं, मध्य प्रदेश सहित राज्य रेमडेसिविर जैसी एंटी-वायरल दवाओं का स्टॉक करने में लगे हुए हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *