चीन के हेनान प्रदेश में लगातार हो रही भारी बारिश से कम से कम 25 लोगों की मौत हो गई है। इस बारिश और बाढ़ जैसे हालात से 12 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं। स्थानीय अधिकारियों ने जानकारी दी है कि हज़ारों लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया गया है। अब तक 7 लोग लापता हैं जिनकी तलाश की जा रही है। कई जगह बांधों के टूटने की वजह से हेनान की राजधानी झेंग्झौ में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। झेंग्झौ के कई प्रमुख रास्ते और सबवे टनल्स डूब गए हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक़ झेंग्झौ में 17 जुलाई से अब तक 650 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है। यह रिकॉर्ड है। चीनी मीडिया के मुताबिक़ झेंग्झौ में पिछले 60 सालों से इतनी बारिश नहीं हुई है। भारी बारिश के कारण 150 से अधिक ट्रेनें और कई फ्लाइट्स रद्द कर दिए गए हैं।

न्यूज़ एजेंसी AFP का यह वीडियो ट्वीट देखिए जिसमें झेंग्झौ के मेट्रो स्टेशन पर फंसे यात्रियों को अग्निशामकों ने रेस्क्यू किया है। बारिश के असर को देखते हुए चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने 21 जुलाई को पानी में डूबे सबवे, होटल और सार्वजनिक स्थानों पर फंसे लोगों के रेस्क्यू के लिए सेना को तैनात किया है। जिनपिंग ने अधिकारियों से लोगों की सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देने को कहा है। इसके साथ ही बाढ़ की रोकथाम और आपदा राहत उपायों को सावधानीपूर्वक और सख्ती से लागू करने को कहा है।

चीन के मौसम विभाग ने हेनान में हुई भारी बारिश के पीछे कई कारण गिनाए हैं। इनमें से वायुमंडलीय दबाव, संभावित तूफ़ान और उस क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति को प्रमुख कारण बताया है। बताया गया है कि जुलाई मध्य में हेनान सबट्रॉपिकल हाई पर था जिसके कारण भारी बारिश हुई है। दक्षिण-पूर्व चीन के फुजियान प्रदेश में आने वाले तूफान ‘यन्हुआ’ के साथ, जलवाष्प भारी मात्रा में हेनान प्रदेश को पहुंची, जिसके कारण अप्रत्याशित बारिश हुई है।

हेनान मौसम ब्यूरो के प्रमुख मौसम ब्रॉडकास्टर झांग निंग ने मीडिया को बताया कि भारी बारिश 21 जुलाई की रात तक संभव है। 22-26 जुलाई तक हेनान में बड़े पैमाने पर बारिश की संभावना नहीं है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed