पंजाब कांग्रेस में मतभेद अभी खत्म नहीं हुए हैं। सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष बनाने की अटकलों के बीच सियासत और तेज हो गई। कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू अपने-अपने खेमे के विधायक और मंत्रियों से अलग-अलग मुलाकात कर रहे हैं। इसे शक्ति प्रदर्शन के रूप में देखा जा रहा है। इसी क्रम में रविवार को पंजाब के 10 कांग्रेस विधायक खुलकर कैप्टन के समर्थन में आ खड़े हुए हैं। इन्होंने साझा बयान जारी कर पार्टी हाईकमान को अपना संदेश भेज दिया है। इन विधायकों ने हाईकमान से आग्रह किया है कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को निराश न करें, जिनके प्रयासों से पार्टी पंजाब में अच्छी तरह खड़ी हुई है।

विधायक मदनलाल के घर पहुंचे सिद्धू
नवजोत सिंह सिद्धू रविवार सुबह अपने घर से पार्टी नेताओं से मिलने निकले। उन्होंने सबसे पहले घन्नौर से पार्टी विधायक मदनलाल जलालपुर से उनके आवास पर मुलाकात की। इस दौरान कैबिनेट मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा और छह अन्य विधायक भी मौजूद रहे। यहां उनका गर्मजोशी से स्वागत किया गया। कयास लगाए जा रहे हैं कि वह आज कैप्टन अमरिंदर सिंह से भी मुलाकात कर सकते हैं। 

सिद्धू के समर्थन में ये मंत्री-विधायक
पंजाब में नवजोत सिंह सिद्धू की सक्रियता के साथ समर्थक भी बढ़ने लगे हैं। कैबिनेट मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी, तृप्त राजिंदरा बाजवा, सुखजिंदर सिंह रंधावा इस समय सिद्धू के पाले में हैं। वहीं विधायक अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग, सुरजीत सिंह धीमान, प्रीतम सिंह कोटभाई, कुलबीर सिंह जीरा और दविंदर सिंह गुबाया (सभी विधायक) भी सिद्धू के साथ हैं। इन विधायकों के साथ खाना खाते सिद्धू की तस्वीरें भी सामने आईं। वहीं विधायक सतकार कौर गहिरी ने भी सिद्धू से मुलाकात की।

उन्होंने कहा कि अगर सिद्धू प्रदेश कांग्रेस के प्रधान बनते हैं तो पार्टी को फायदा होगा। जालंधर कैंट के विधायक परगट सिंह ने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू एक बड़ा चेहरा हैं। अगर कांग्रेस उनके नेतृत्व में पंजाब में चुनाव लड़ती है तो इसका बड़ा फायदा पार्टी को मिलेगा। साथ ही कहा कि उन्हें हाईकमान का फैसला मंजूर होगा। 

प्रदेश अध्यक्ष ने बुलाई विधायकों और जिलाध्यक्षों की बैठक
पंजाब कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने सोमवार को तत्काल पार्टी के सभी विधायकों और जिलाध्यक्षों की बैठक चंडीगढ़ में बुलाई है। बैठक में एक प्रस्ताव पारित कर पार्टी प्रमुख को भेजा जाएगा कि पंजाब के संबंध में वह जो भी निर्णय लेंगी, उसका सभी सम्मान करेंगे।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed