जम्मू कश्मीर में विशेषज्ञों को रोबोटिक सर्जरी के डेमो से वाकिफ कराया गया है। ढाई दिन की वर्कशॉप के माध्यम से 130 सर्जनों ने रोबोटिक सर्जरी के बारे में ट्रायल लिया है। उन्हें इसके बारे में अच्छे से समझाया गया है। यह वर्कशॉप गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज की ओर से रखी गई थी।वही इस वर्कशॉप में हिस्सा लेने वाले सभी चिकित्सक सर्जन थे, जिनके अनुसार यह हेल्थ सेक्टर में एक महत्वपूर्ण कदम सिद्ध होगा।

जीएमसी में सर्जरी विभाग के प्रमुख चिकित्सक मुफ्ती महमूद के मुताबिक यह सर्जरी का ढंग पहले यूरोप में उपयोग किया जाता था। फिर आहिस्ता-आहिस्ता ये भारत भी पहुंच गया है। अभी देश में ऐसे 86 रोबोट्स हैं, जिनमें से 12 दिल्ली के हैं।इसके साथ ही चिकित्सक महमूद के मुताबिक इस सर्जरी के बहुत लाभ हैं, क्योंकि रोबोट की बाजू 360 डिग्री तक घूम सकती है, जो मनुष्य की हथेली में संभव नहीं है।

इस सर्जरी की इसी विशेषता के चलते इसके ऐसे स्थानों पर पहुंच बढ़ी है, जहां चिकित्सकों का पहुंचना कठिन हो सकता है। चिकित्सक महबूब के अनुसार, इस सर्जरी से रोगी के ठीक होने का वक़्त साधारण सर्जरी की तुलना में कम होता है। इस सर्जरी के पश्चात् टांके भी कम लगते हैं, जिसके चलते इंफेक्शन का संकट भी बहुत कम होता है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *