यूपी में सिर्फ प्रियंका गाँधी के चहरे का कितना चलेगा जादू !

पद मिलने से पहले प्रियंका के दर्शन लोकसभा चुनावों के वक्त अपनी मां सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली और भाई राहुल के संसदीय क्षेत्र अमेठी में होती थी। 2019 में राहुल ने अमेठी सीट गंवा दी। जिसके बाद प्रियंका ने भी अब तक अमेठी और रायबरेली का रुख नहीं किया है।

साल का ज्यादातर वक्त देखें तो यूपी की राजधानी लखनऊ के माल एवेन्यू में बने कांग्रेस के दफ्तर में कोई चहल-पहल नहीं दिखती। नेता आते हैं और कुछ देर बैठकर चले जाते हैं, लेकिन यहां सफेद खादी में हुजूम कुछ खास मौकों पर जरूर दिख जाता है। ये खास मौका होता है पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का दौरा। डेढ़ साल बाद अब फिर कांग्रेस दफ्तर गुलजार है। क्योंकि प्रियंका यहां पहुंची हैं। कांग्रेस महासचिव के अलावा प्रियंका गांधी को यूपी की प्रभारी का भी जिम्मा मिला हुआ है। बावजूद इसके वह साल का ज्यादातर वक्त दिल्ली में बिताती हैं। पद मिलने से पहले प्रियंका के दर्शन लोकसभा चुनावों के वक्त अपनी मां सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली और भाई राहुल के संसदीय क्षेत्र अमेठी में होती थी। 2019 में राहुल ने अमेठी सीट गंवा दी। जिसके बाद प्रियंका ने भी अब तक अमेठी और रायबरेली का रुख नहीं किया है।

दिल्ली में बैठकर ट्विटर के जरिये यूपी में कांग्रेस को चलाने की प्रियंका की कोशिश कोई रंग नहीं दिखा पा रही है। नतीजे में यूपी से सिर्फ कांग्रेस की एक सांसद सोनिया गांधी हैं। जबकि, विधानसभा में पार्टी के सात विधायक हैं। इन विधायकों में से भी दो अदिति सिंह और राकेश सिंह बगावत का झंडा खुलेआम लहरा रहे हैं।

नतीजा सबके सामने है जितिन प्रसाद जैसा बड़ा चेहरा कांग्रेस का हाथ झटककर बीजेपी का कमल थाम चुका है। 1989 के बाद कांग्रेस का नाम यूपी से मिट चुका है। उसकी कोई सरकार यूपी में अब तक बन नहीं सकी। यहां तक कि कांग्रेस ने समाजवादी पार्टी से हाथ मिलाया, लेकिन उसका भी कोई फायदा उसे नहीं मिला।2022 में फिर लोक सभा चुनाव होने है महज़ चंद महीने इस चुनाव के रह गए हैं उत्तर प्रदेश की ज़मीन पर कांग्रेस का कैडर लगभग ख़त्म है प्रदेश अध्यक्ष अजय लल्लू भी कमाल नहीं दिखा पा रहे हैं यैसे में देखना यह होगा कि आखिर अकेले प्रियंका वाड्रा के चहरे पर कितनी सीटें ला पाएंगी कांग्रेस या प्रियंका गाँधी वाड्रा के चहरे पर सिर्फ मौसमी भीड़ ही जुटती रहेगी ?

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *