मुझे प्रसन्नता है कि जेवर एयरपोर्ट का कार्य कोरोना महामारी के बावजूद समयबद्ध ढंग से आगे बढ़ रहा है उत्तर प्रदेश के विकास के लिए ये मील का पत्थर साबित होगा,देश के सबसे बड़ी आबादी के राज्य के लिए ये एयर कनेक्टिविटी को और मजबूत करेगा| 2017 से पहले सिर्फ दो ही एयरपोर्ट थे जहां पर फ्लाइट सर्विस होती थी,एक लखनऊ और दूसरा वाराणसी, लेकिन आज प्रदेश मे 8 एयरपोर्ट क्रियाशील हैं कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए हम कार्य पूरा कर चुके हैं, और इसे कभी भी इंटरनेशनल फ्लाइट के लिए प्रारम्भ किया जा सकता है जेवर एयरपोर्ट एक सपना था,इसे हमने जिला प्रशासन के माध्यम से किसानों से सीधे बात की,और भूमि अधिग्रहण के लिए कार्य पूरा किया गया,इसके लिए मैं जिला प्रशासन को धन्यवाद देता हूँ, जिन्होंने समयबद्ध ढंग से भूमि अधिग्रहण करके पुनर्वास कार्य किया,नही तो ये वही जगह है जहां गोलियां चलती थीं,और आंदोलन होते थे,लेकिन आज सारे कार्यक्रम शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न हुए, आगे जो भी कार्यक्रम हैं उन्हें सुचारू रूप से आगे बढ़ाना होगा. जल्द से जल्द ये प्रोजेक्ट सुचारु रूप से कार्यान्वित हो ये हम सब की ज़िम्मेदारी है उत्तर प्रदेश 2024 तक 1 ट्रिलियन इकोनॉमी के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए ये जेवर एयरपोर्ट सहायक बने इसका प्रयास करना होगाजय हिन्द !

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *