आज राष्‍ट्रीय चिकित्‍सक दिवस है। आप सभी को बता दें कि इस दिन हम ‘भारत रत्‍न’ बिधान चंद रॉय को याद किया जाता है। ऐसे में आज बड़े-बड़े लोगों से लेकर आम लोग तक डॉक्टर्स की तारीफों के पूल बाँध रहे हैं। अब इसी क्रम में डब्ल्यूएचओ (WHO) ने कहा कि, ‘हमने कोरोना काल में कई डॉक्टर्स को खो दिया। डॉक्टर्स डे पर डब्ल्यूएचओ इन बहादुर डॉक्टर्स, उनके परिवारों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को सलाम करता है।’

इसी के साथ उन्होंने कहा कि, ”डब्ल्यूएचओ देशों के साथ स्वास्थ्य कार्यबल को मजबूत करने में निवेश करना जारी रखेगा। कोरोनाकाल में डॉक्टर्स लोगों के लिए किसी भगवान से कम नहीं है। कोरोना की शुरुआत से ही डॉक्टर्स ने अपनी जान पर खेलकर लाखों मरीजों को मौत के मुंह से बाहर निकाला है। डॉक्टर और स्वास्थ्य कार्यकर्ता COVID-19 महामारी के ऐसे कठिन समय के दौरान हमारे साथ खड़े रहे कि हम उन्हें कितना भी स्वीकार करें या धन्यवाद दें, उन्होंने देश के लिए जो कुछ भी किया है, उसे चुकाना मुश्किल होगा।” आप देख सकते हैं डब्ल्यूएचओ (WHO) ने एक ट्वीट किया है।

इस ट्वीट में उन्होंने लिखा है, ‘डॉक्टर्स के बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। कोरोना काल की इस लड़ाई में इलाज करते-करते कई डॉक्टर्स की जान चली गई।” इसी के साथ डब्ल्यूएचओ (WHO) ने उनके परिवार को भी सलाम किया। आप सभी को हम यह भी बता दें कि डॉक्टर्स डे केवल भारत में ही नहीं बल्कि अलग-अलग देशों में मनाया जाता है। सब जगह इसे मनाने के दिन अलग हैं। जैसे संयुक्त राज्य अमेरिका में ये 30 मार्च को तो क्यूबा में 3 दिसंबर को मनाया जाता है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *