मध्यप्रदेश में देवास जिले के नेमावर में पुलिस ने मंगलवार को एक ही परिवार के 5 सदस्यों के शव गड्‍ढे से बरामद किए हैं। 2 माह पहले इनके लापता होने की शिकायत पुलिस में दर्ज कराई गई थी। प्रारंभिक जानकारी में यह मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा हुआ बताया जा रहा है।

इस मामले में पुलिस ने सुरेन्द्रसिंह चौहान और उसके छोटे भाई भूरू को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि सुरेन्द्र ने अपने भाई के सहयोग इन सभी लोगों की हत्या कर शव खेत में 10 फुट का गड्ढा खोदकर दबा दिए थे। बताया जा रहा है कि सुरेन्द्र के रूपाली कास्ते से प्रेम प्रसंग था।

देवास जिले के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सूर्यकांत शर्मा ने मंगलवार को बताया कि 13 मई को नेमावर बस स्टैंड के पीछे रहने वाले मोहन लाल कास्ते की पत्नी ममता बाई कास्ते (45), बेटी रूपाली (21), दिव्या (14) और रवि ओसवाल की बेटी पूजा (15) एवं बेटा पवन (14) लापता हो गए थे।

उन्होंने कहा कि पुलिस इस मामले में गुमशुदा रिपोर्ट दर्ज कर परिवार की तलाश सरगर्मी से कर रही थी। शर्मा ने बताया कि मुखबिर से पुलिस को सूचना मिली की नेमावर निवासी हुकुम सिंह चौहान के आत्माराम बाबा मेला मार्ग पर स्थित खेत में काम कर रहे व्यक्ति को इस संबंध में कुछ जानकारी है। पुलिस उसे थाने लाई और उससे सख्ती से पूछताछ की तो उसने खेत मालिक के पोते सुरेन्द्रसिंह चौहान और उसके छोटे भाई भूरू के बारे में जानकारी दी। पुलिस दोनों भाइयों को थाने लाई और कड़ाई से पूछताछ की तो वे टूट गए।

उन्होंने बताया कि इन दोनों भाइयों ने पूछताछ में बताया कि पांचों को मारकर उनकी लाश खुद के खेत में गड्ढा खोदकर गाड़ दिया था। शर्मा ने बताया कि दोनों आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जेसीबी एवं नगर परिषद के सफाई कर्मियों की मदद से गड्ढे की मिट्टी निकाल कर पांचों के कंकाल बाहर निकाले गए।

उन्होंने कहा कि सभी कंकाल फॉरेंसिक जांच के लिए अस्पताल भेज दिए गए हैं। शर्मा ने बताया कि पुलिस मामले में जांच कर रही है। हत्याकांड में अन्य आरोपियों के शामिल होने की संभावना जताई जा रही है। अधिकारी ने कहा कि हत्या क्यों की गई? इसके बारे में पुलिस तफ्तीश कर रही है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed