महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख मंगलवार को एक बार फिर प्रवर्तन निदेशालय के सामने पेश होने से मना कर दिया है। अनिल देशमुख ने कहा कि उनकी उम्र 72 साल है और उन्हें पहले से कई बीमारियां हैं। बता दें कि इससे पहले अनिल देशमुख ने ईडी के समक्ष पेश होने इनकार कर दिया था। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने देशमुख को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ के लिए दूसरी बार तलब किया है।

ईडी ने समन जारी कर उन्हें मंगलवार को बेलार्ड पियर्स स्थित दफ्तर बुलाया है। इससे पहले ईडी ने अनिल देशमुख को शनिवार को पेश होने के लिए कहा था। लेकिन उन्होंने अधिकारियों के सामने पेश होने में असमर्थता जताई थी। देशमुख के वकील जयवंत पाटिल ने ईडी दफ्तर पहुंचकर समय देने की मांग की थी। साथ ही देशमुख से पूछताछ के संबंध में भी जानकारी मांगी थी। हालांकि उस समय ईडी के अधिकारियों ने पेशी के बारे में कोई तारीख नहीं दी थी।

अब देशमुख को मंगलवार को पेश होने के लिए कहा गया है। इस मामले में ईडी ने देशमुख के निजी सचिव संजीव पलांडे और निजी सहायक कुंदन शिंदे को शनिवार तड़के गिरफ्तार कर लिया था। फिलहाल, दोनों ईडी की हिरासत में हैं।

बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय ने शुक्रवार को महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के घर पर छापेमारी की। ईडी ने अनिल देशमुख के नागपुर और मुंबई के वर्ली वाले घर पर छापेमारी की। ईडी की ओर से नागपुर और मुंबई में अलग-अलग छापेमारी की जा रही हैं।

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की ओर से लगाए गए आरोप के बाद अनिल देशमुख पर मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया गया था, जिसको लेकर ईडी लगातार उनसे पूछताछ कर रही है।इसके साथ ही प्रवर्तन निदेशालय ने तलोजा जेल में पूर्व पुलिस अधिकारी सचिन वाजे का भी बयान दर्ज किया है। 

महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख ने शुक्रवार को कहा कि आप जानते हैं परम बीर सिंह ने मुंबई पुलिस कमिश्नर के पद से हटाए जाने के बाद मुझ पर झूठे आरोप लगाए क्योंकि उनकी भूमिका बेहद संदिग्ध थी। जब वह पद पर थे तब उन्होंने आरोप क्यों नहीं लगाए?

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed