महाराष्ट्र की महाविकास आघाडी सरकार में क्या सबकुछ ठीक चल रहा है? हाल के दिनों में सरकार में शामिल कांग्रेस पार्टी के कुछ नेताओं के बयान के बाद कई राजनीति विश्लेषकों का मानना है कि शायद राज्य की महाविकास अघाड़ी सरकार में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। ऐसा कहा जा रहा है कि पर्दे के पीछे कुछ ना कुछ तो चल रहा है। इस बीच शिवसेना नेता संजय राउत से मुलाकात के ठीक एक दिन बाद एनसीपी नेता शरद पवार मंगलवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मिलने के लिए उनके वर्षा बंगले पर पहुंचे हैं। मुख्यमंत्री के वर्षा बंगले में गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटील, कैबिनेट मंत्री जितेंद्र अहवाद समेत कुछ अन्य मंत्री भी मौजूद हैं। 

इससे पहले शरद पवार और अमित शाह के बीच अहमदाबाद में बैठक हुई थी तो यह कहा जाने लगा था कि एनसीपी और भाजपा एक दूसरे के करीब आ रही है। इसी तरह जब मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात हुई तब उस वक्त भी यह बात कही जा रही थी कि शिवसेना और भाजपा की दूरियां शायद मिटने लगी हैं। अभी हाल ही में संजय राउत ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में यह भी कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बीच मजबूत रिश्ता है। 

इससे पहले सोमवार को शिवसेना नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और एनसीपी नेता शरद पवार से अलग-अलग मुलाकात की थी। सीएम के साथ संजय राउत की मुलाकात आधिकारी आवास ‘वर्षा’ में करीब 2 घंटे तक चली थी। जबकि शरद पवार से संजय राउत की मुलाकात उनके आवास पर हुई थी। जब संजय राउत सीएम से मुलाकात कर वहां से निकले थे तब पत्रकारों से उनके पूछा था क्या वो सीएम का कोई मैसेज शरद पवार तक पहुंचाने जा रहे हैं?

इसपर संजय राउत ने कहा था कि ‘अगर कोई मैसेज है तो मैं आपको क्यों बताऊं, मैं इसे पवार साहब को ही बताऊंगा।’ संजय राउत ने कहा है कि शरद पवार पहले ही कह चुके हैं कि शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस गठबंधन वाली महा विकास अघाड़ी सरकार पहले से ही बेहतरीन काम कर रही है। यह सरकार राज्य में अपना कार्यकाल पूरा करेगी। 

 बहरहाल, शरद पवार और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की इस मुलाकात को लेकर कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी कहा जा रहा है कि इस मीटिंग में मुंबई के पुलिस कमिश्नर हेमंत नगराले भी शामिल हैं। लिहाजा एक कयास यह भी लगाया जा रहा है कि  शरद पवार और उद्धव ठाकरे के बीच इस मुलाकात में अनिल देशमुख की ईडी जांच पर बात हुई है।

महाराष्ट्र में इस समय एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना की साझा सरकार है और इस बीच कांग्रेस पार्टी ने राज्य में अगला चुनाव अकेले लड़ने का ऐलान कर दिया है। पिछले दिनों पवार से जब इसको लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने इसे कांग्रेस का अधिकार बताया था। पवार ने कहा, हर राजनीतिक पार्टी को विस्तार का अधिकार है। पार्टी कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने के लिए भी हम इस तरह की बातें कहते हैं। इसी तरह यदि कांग्रेस भी ऐसा कहती है तो हम इसका स्वागत करते हैं, क्योंकि यह उनका अधिकार है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *