पाकिस्तान के वरिष्ठ मौलाना मुफ्ती अजीजुर रहमान का आपत्तिजनक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। बुजुर्ग मौलाना पर मदरसे के एक छात्र के साथ यौन संबंध बनाने का आरोप है। वीडियो लीक होने के बाद खबर आग की तरह फैल गई। लाहौर पुलिस ने मुफ्ती अजीजुर रहमान के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। लाहौर के उत्तरी कैंट पुलिस स्टेशन में अजीजुर रहमान के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। 

तीन साल तक मौलाना ने किया दुष्कर्म
मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो छात्र का आरोप है कि मौलाना मुफ्ती रहमान ने कहा था कि शारीरिक संबंध बनाने के बाद मेरे ऊपर लगे प्रतिबंधों को हटा देगा। इतना ही नहीं, मुफ्ती ने यह भी कहा था कि वह मुझे परीक्षा में पास भी कर देगा, लेकिन तीन साल तक उसने मेरे साथ यौन उत्पीड़न किया। मैंने जब इसका विरोध किया तो उसने ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया।

पीड़ित ने सुनाई आपबीती
पुलिस के मुताबिक, पीड़ित छात्र ने बताया कि उसे जामिया मंजूरुल इस्लामिया में 2013 में दाखिला मिला था। छात्र ने कहा कि परीक्षा के दौरान मुफ्ती रहमान ने उस पर और एक अन्य छात्र पर परीक्षा में धोखाधड़ी का आरोप लगाया था। वहीं पाकिस्तान के एक प्रमुख अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, छात्र का आरोप है कि इसके साथ ही उसे वफाकुल मदारिस में तीन साल के लिए परीक्षा देने पर भी रोक दिया, इसी बीच मौलाना ने वादा किया कि मेरे ऊपर लगी सभी पाबंदियां रद्द कर दिया जाएगा, लेकिन मौलान मेरे साथ लगातार जुल्म ढाता रहा। पीड़ित का कहना था कि उसके पास यौन उत्पीड़न का शिकार होने के अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं था। 

मदरसा प्रशासन ने नहीं सुनी बात
पीड़ित छात्र ने बताया कि उसने मदरसा प्रशासन से मौलाना मुफ्ती के खिलाफ शिकायत की, लेकिन प्रशासन ने बात मानने से इनकार कर दिया। बल्कि, मदरसा प्रशासन ने कहा कि मुफ्ती रहमान एक पवित्र व्यक्ति हैं और उसकी शिकायत सुनने के बजाय उस पर झूठा बयान देने का आरोप लगा दिया गया। 

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed