सीएम योगी ने पीएम मोदी को विस्तार से कोरोना काल में किए गए कार्यों को बताया

करीब सवा घंटे की मुलाकात में सीएम योगी ने कोरोना काल में केंद्र सरकार की ओर से मिले त्वरित सहयोग के लिए आभार जताया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना काल में किए गए कार्यों के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कोविड प्रबंधन में केंद्र सरकार की ओर से मिले दिशा निर्देशों और त्वरित सहयोग को लेकर भी आभार जताया। पीएम मोदी और सीएम योगी की जनहित सहित कई विषयों पर करीब सवा घंटे चर्चा हुई। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूपी के कोविड प्रबंधन को सराहा।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज दोपहर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से नई दिल्ली स्थित उनके शासकीय आवास पर शिष्टाचार भेंट की। इसके बाद सीएम योगी ने पीएम मोदी का हृदयतल से आभार जताया है। अपने ट्विट में उन्होंने कहा है कि ‘आज आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र जी से नई दिल्ली में शिष्टाचार भेंट एवं मार्ग दर्शन प्राप्ति का सौभाग्य प्राप्त हुआ। अपनी व्यस्ततम दिनचर्या से भेंट के लिए समय प्रदान करने व आत्मीय मार्ग दर्शन करने के लिए आदरणीय प्रधानमंत्री जी का हृदयतल से आभार।’
पीएम और सीएम की मुलाकात में उत्तर प्रदेश में किए गए विकास कार्यों को लेकर भी चर्चा हुई। सीएम योगी ने सरकार की ओर से कराए गए प्रमुख विकास कार्यों और निकट भविष्य में पूरे होने वाले प्रोजेक्ट आदि के बारे में भी जानकारी दी।

जीवन के साथ जीविका को भी प्राथमिकता दी यूपी ने
सीएम योगी ने पीएम मोदी को बताया कि कोरोना की दूसरी लहर में किस प्रकार से यूपी में जीवन के साथ जीविका को भी प्राथमिकता दी और अन्य राज्यों की अपेक्षा प्रदेश में आंशिक कोरोना कर्फ्यू लागू किया। इस दौरान कोरोना की गाइड लाइन का पालन करते हुए उद्योग भी संचालित होते रहे और गेहूं खरीद भी होती रही। किसान हितों को देखते हुए मंडियां और चीनी मिलें भी संचालित होती रहीं।

गरीबों और जरूरतमंदों के साथ खड़ी है सरकार
सीएम योगी ने पीएम मोदी ने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार कोरोना काल में गरीबों और जरूरतमंदों के साथ खड़ी है और उनकी हरसंभव सहायता कर रही है। हाल ही में 23 लाख संगठित क्षेत्र में कार्य कर रहे श्रमिकों को 1000 रुपए भत्ता दिया गया है। रोज कमाने और खाने वाले रेहड़ी, पटरी आदि को 1000 रुपए भत्ता देने के लिए 14 लाख से अधिक पात्र व्यक्तियों का सत्यापन करा दिया गया है। जल्द ही इन्हें भी लाभान्वित किया जाएगा। मनरेगा के माध्यम से स्थानीय स्तर पर रोजगार देने के कार्यों में और तेजी लाने के निर्देश दिए गए हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में 17 लाख मजदूर मनरेगा के तहत कार्य कर रहे हैं। पिछले एक महीने में करीब साढ़े पांच गुना संख्या मजदूरों की बढ़ी है।

ट्रेस, ट्रीट और ट्रीटमेंट को ध्येय मानकर कार्य किया
सीएम ने बताया कि कोरोना काल में ट्रेस, ट्रीट और ट्रीटमेंट को ध्येय मानकर कार्य किया है। इस दौरान सर्विलांस के माध्यम से प्रदेश की 24 करोड़ की जनसंख्या में से अब तक डोर टू डोर 18 करोड़ लोगों की स्क्रीनिंग की गई है। ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक से अधिक टेस्ट कराए जा रहे हैं, 31 मार्च से अब तक 70 प्रतिशत टेस्ट ग्रामीण क्षेत्रों में किए गए हैं। संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए साप्ताहिक बंदी के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों और शहरी क्षेत्रों में फॉगिंग, सैनेटाइजेशन और साफ-सफाई का अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान में ग्रामीण क्षेत्रों में 86,700 और शहरी क्षेत्रों में 82,000 कर्मचारी लगाए गए हैं।

सीएम ने पीएम को दीं तीन पुस्तकें
सीएम योगी ने पीएम मोदी को तीन पुस्तकें भेंट की हैं। पहली पुस्तक उत्तर प्रदेश में कोरोना की पहली लहर में प्रवासियों के बेहतर मैनेजमेंट को लेकर हावर्ड यूनिवर्सिटी के अध्ययन के बारे में है। दूसरी पुस्तक उत्तर प्रदेश में जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी द्वारा प्रवासी संकट के बेहतर प्रबंधन को लेकर किए गए अध्ययन पर आधारित है और तीसरी पुस्तक जिला स्तर की जीडीपी पर आधारित है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *