परमबीर सिंह के मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान परमबीर के वकील महेश जेठमलानी ने कहा कि मेरे मुवक्किल को जांच अधिकारी द्वारा परेशान किया जा रहा है।

सुप्रीमकोर्ट ने जेठमलानी ने पूछा परमवीर सिंह 30 साल से महाराष्ट्र में पुलिस सेवा में हैं और उन्हें ही राज्य पुलिस पर भरोसा नहीं है। वह राज्य से बाहर मामला भेजने की मांग कर रहे हैं। यह अजीब सी बात है।

वकील महेश जेठमलानी ने कहा DGP मेरे संपर्क कर रहे हैं। मुझे अपने पत्र वापस लेने के लिए धमकाया जा रहा है।अगर मैं इसे वापस नहीं लूंगा तो वे मेरे खिलाफ आपराधिक मामलों में फंसा दिया जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आप इस मामले की मेरिट पर बहस करिए। अगर इस मामले में तत्काल राहत चाहते हैं तो मुंबई हाईकोर्ट जाइए।

सुप्रीम कोर्ट ने परमबीर सिंह की याचिका खारिज करते हुए कहा कि जो लोग शीशे के घरों में रहते हैं। वह दूसरों के घर पर पत्थर नहीं फेंका करते है।

इसपर परमबीर सिंह ने अपनी याचिका वापस लेते हुए कहा, हम हाई कोर्ट में याचिका दाखिल करेंगे।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *