केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि देश में कोरोनावायरस कोविड-19 के प्रसार का आकलन करने के लिए आईसीएमआर राष्ट्रीय स्तर पर सीरो सर्वेक्षण करेगा और सभी राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेशों को भी ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए, ताकि सभी भौगौलिक क्षेत्रों की सूचना एकत्र की जा सके।

मंत्रालय ने कहा कि ऐसा लगता है कि देश में कोविड-19 की स्थिति स्थिर हो रही है, लेकिन साथ ही उसने लोगों से कोविड-19 अनुकूल व्यवहार और सामाजिक दूरी के नियम का अनुपालन करने का आह्वान किया। मंत्रालय ने कहा, भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) कोविड-19 के प्रसार का आकलन करने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर सीरो सर्वेक्षण करेगी और राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेशों को भी ऐसा करना चाहिए, ताकि सभी भौगोलिक क्षेत्रों की सूचना मिल सके।

मंत्रालय ने बताया कि सात मई को संक्रमण के चरम पर पहुंचने के बाद से कोविड-19 के दैनिक नए मामलों में 78 प्रतिशत की कमी आई है। वहीं साप्ताहिक संक्रमण दर में भी 30 अप्रैल से 6 मई के उच्चतम स्तर 21.6 प्रतिशत के मुकाबले 74 प्रतिशत की कमी आई है। केंद्र ने रेखांकित किया कि संक्रमण की कड़ी तोड़ने से सुनिश्चित होता है कि स्वास्थ्य अवसंरचना पर कम दबाव पड़े और बेहतर देखभाल मिले।

अमेरिका के खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) द्वारा भारत बायोटेक के कोविड-19 टीके ‘कोवैक्सीन’ को आपात इस्तेमाल मंजूरी (ईयूए) देने से इनकार करने के सवाल पर मंत्रालय ने कहा, हम प्रत्‍येक देश के नियमाकीय प्रणाली का सम्मान करते हैं लेकिन इसका असर भारत के टीकाकरण कार्यक्रम पर नहीं पड़ेगा।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *