मुंबई में बारिश का मौसम हर साल लोगों की परेशानी का सबब बनता है। इस दौरान पानी निकासी के कुप्रबंधन के लिए प्रशासनिक से लेकर राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप तक की बानगी देखने को मिलती है। ऐसा ही कुछ बुधवार को भी देखने को मिला। जहां एक ओर मुंबई की मेयर ने रेलवे पर रेल पटरियों को साफ करने में मदद नहीं करने का आरोप लगाया है। वहीं रेलवे ने इन आरोपों को खारिज किया है।

मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने बुधवार को आरोप लगाते हुए कहा कि यहां बारिश के बाद लोकल ट्रेन सेवा ठप पड़ गई है। रेल पटरियों को साफ करने में हमें उम्मीद के मुताबिक रेलवे से मदद नहीं मिल रही है। बता दें कि मुंबई के सायन रेलवे स्टेशन और जीटीबी नगर रेलवे स्टेशन के बीच पटरियों पर बारिश का भरे होने की कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर सामने आ चुकी हैं।

रेलवे ने कहा- हम आरोपों का खंडन करते हैं
वहीं दूसरी ओर मेयर पेडनेकर के इन आरोपों को रेलवे ने खारिज किया है। मध्य रेलवे के सीपीआरओ शिवाजी सुतार ने इस संबंध में कहा कि हम इन आरोपों का खंडन करते हैं कि रेलवे सहयोग नहीं कर रहा है। उन्होंने कहा कि हम बृहन्मुंबई नगर निगम के अधिकारियों के साथ लगातार संपर्क बनाए हुए हैं, बैठक कर रहे हैं, ताकि हम अपने यात्रियों को बेहतरीन सेवा दे सकें।

उधर, पश्चिम रेलवे ने कहा है कि भारी बारिश के बावजूद दिन भर चारों लाइनों पर यातायात चलता रहा। ट्रेन संचालन की सुरक्षा के मद्देनजर डाउन स्लो लाइन पर कुछ जगहों में जलजमाव के कारण माटुंगा रोड-माहिम सेक्शन में ट्रेनों को 25 किमी प्रति घंटे की सीमित गति से ही चलाया गया।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *