वाइस एडमिरल राजेश पेंढारकर, एवीएसएम, वीएसएम ने आज 07 जून 2021 को नौसेना ऑपरेशन्स के महानिदेशक का पदभार ग्रहण कर लिया है। वह राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खड़कवासला, पुणे के पूर्व छात्र हैं, जिन्हें जनवरी 1987 में भारतीय नौसेना में कमीशन प्रदान किया गया था। वह डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज, वेलिंगटन, नेवल वॉर कॉलेज, करंजा और नेवल कमांड कॉलेज, न्यूपोर्ट, रोड आइलैंड, यूएसए से ग्रेजुएट हैं।

फ्लैग ऑफिसर पनडुब्बी रोधी युद्धकला (एएसडब्ल्यू) में विशेषज्ञ हैं एवं एएसडब्ल्यू अधिकारी के रूप में उन्होंने नौसेना के अग्रिम युद्धपोतों पर और बाद में गाइडेड विध्वंसक आईएनएस मैसूर के एग्जीक्यूटिव ऑफिसर एवं प्रिंसिपल वॉरफेयर ऑफिसर के रूप में कार्य किया है।

उन्होंने मिसाइल कार्वेट आईएनएस कोरा, मिसाइल फ्रिगेट आईएनएस शिवालिक और विमानवाहक पोत आईएनएस विराट की कमान संभाली है। वह आईएचक्यू, रक्षा मंत्रालय (नौसेना) में स्टाफ रेक्विरेमेंट डायरेक्टरेट, कार्मिक निदेशालय तथा नेट सेंट्रिक ऑपरेशन्स निदेशालय में महत्वपूर्ण स्टाफ अपॉइंटमेंट पर कार्यरत रहे हैं।

फरवरी 2016 में रीयर एडमिरल के पद पर पदोन्नति के बाद, उन्हें मुख्यालय आईडीएस, नई दिल्ली में असिस्टेंट चीफ ऑफ इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ (इंट – ए) के रूप में नियुक्त किया गया और बाद में पश्चिमी नौसेना कमान के मुख्यालय, में चीफ स्टाफ ऑफिसर (ऑपरेशन्स), महाराष्ट्र नेवल एरिया के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग और फ्लैग ऑफिसर, सी ट्रेनिंग नियुक्त किया गया।

वाइस एडमिरल राजेश पेंढारकर को उनकी विशिष्ट सेवा के लिए अति विशिष्ट सेवा पदक और विशिष्ट सेवा पदक प्रदान किया गया है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *