म्यूजिक कंपोजर और सिंगर वाजिद खान के निधन को एक साल पूरा हो चुका है। वाजिद के निधन के बाद से लगातार उनकी पत्नी कमालरुख खान वाजिद और उनके परिवार को लेकर कई बड़े खुलासे कर चुकी हैं। तो वहीं अब कमालरुख बॉम्बे हाईकोर्ट पहुंच गई हैं। इससे पहले अप्रैल 2021 में कमालरुख ने संपत्ति विवाद को लेकर अपने देवर साजिद खान और सास के खिलाफ बॉम्बे हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था, अब एक बार फिर वह न्यायालय पहुंच गई हैं।

कमालरुख ने बॉम्बे हाई कोर्ट से मांग की है कि उन्हें परिवार की संपत्ति से अलग किया जाए साथ ही उनकी संपत्ति सुरक्षित रखने के स्थाई आदेश दिए जाएं। बता दें, कमालरुख पिछले छह साल से परिवार से अलग रह रही हैं और पहले भी अपने ससुरालवालों के खिलाफ कई आरोप लगा चुकी हैं।
वाजिद मशहूर पेंटर्स की पेंटिंग्स के थे मालिक
कमालरुख की शिकायत पर कोर्ट ने आदेश पारित करते हुए साजिद खान और उनकी मां से प्रॉपर्टी का ब्योरा मुहैया कराने को कहा है। 16 करोड़ रुपये की कुल संपत्ति में वाजिद द्वारा खरीदी गई कई मशहूर पेंटर्स की पेंटिंग्स भी शामिल हैं, जिसकी कीमत उनकी पत्नी ने कोर्ट को आठ करोड़ रुपये बताई है। इसमें फेमस पेंटर एमएफ हुसैन की कई पेंटिंग्स और स्केच हैं तो तैय्यब मेहता, वीएस गायतोंडे, एसएच रजा की एक-एक और जे स्वामीनाथ की दो पेंटिंग्स शामिल हैं।

वाजिद खान और कमालरुख खान
कोर्ट ने पूछा कि क्या कमालरुख खान का इन पेंटिंग्स के साथ कोई भावनात्मक कनेक्शन है? इस पर उनके वकील बहरैज ईरानी ने न्यायालय से कहा, ‘परिवार के लिए यह सभी वस्तुएं अनमोल हैं, इनका भावनात्मक और आर्थिक महत्व है।’ ईरानी ने आगे कहा, ‘आज कमालरुख विधवा हैं और अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए इन्हीं चीजों पर निर्भर हैं। यही नहीं, वाजिद अपनी बेटी को आगे की पढ़ाई के लिए अमेरिका भेजना चाहते थे लेकिन उनके अचानक इंतकाल के बाद अब परिवार सपोर्ट नहीं कर रहा है। ये पैसे कमालरुख की मदद करेंगे।’

वकील ईरानी के मुताबिक, ‘तमाम झगड़ों से अलग आप अपने बच्चों से कैसे तलाक ले सकते हैं? बच्चों के अधिकार प्रभावित नहीं हो सकते क्योंकि पिता की संपत्ति में उनका निहित अधिकार होता है।’ बता दें कि, कमालरुख ने इससे पहले वाजिद और उनके परिवार पर कई संगीन आरोप लगाए थे। उन्होंने कहा था, ‘पहले वाजिद का परिवार धर्म परिवर्तन को लेकर उनके ऊपर दबाव बना रहा था और उनके बाद खुद वाजिद उन्हें तलाक की धमकी देने लगे थे। साल 2014 में वाजिद ने तलाक के लिए अर्जी दायर की थी, जो कि हुआ नहीं। मैं अभी भी डिवोर्स्ड नहीं हूं। बाद में वाजिद ने अपने किए पर माफी मांगी थी और उसे अपने किए पर पछतावा था।’

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *