दिल्ली सरकार के औषधि नियंत्रक ने गुरुवार को हाई कोर्ट को बताया कि ‘गौतम गंभीर फाउंडेशन कोविड-19 मरीजों के उपचार में होने वाली दवा फैबिफ्लू की अनधिकृत तरीके से जमाखोरी करने, खरीदने और उसका वितरण करने के दोषी पाया गया है। इसके अलावा कोर्ट को बताया गया है कि आप विधायक प्रवीण कुमार ने भी ड्रग्स एवं कॉस्मेटिक एक्ट के तहत अपराध किया है।  ड्रग कंट्रोलर ने गुरुवार को दिल्ली हाईकोर्ट में नए सिरे से जांच रिपोर्ट पेश करते हुए यह जानकारी दी है। 

सुनवाई का विवरण सामने आने के बाद, गौतम गंभीर ने भगत सिंह का एक डायलॉग ट्वीट किया। उन्होंने ट्वीट किया’ “मैं एक आदमी हूं और जो कुछ भी मानव जाति को प्रभावित करता है वह मुझे चिंतित करता है – सरदार भगत सिंह।” गौतम ने कहा कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है और जनता की भलाई के लिए वह जो कर सकते हैं करते रहेंगे।

क्या है पूरा मामला
दरआसल, दिल्ली हाईकोर्ट उन याचिकाओं पर सुनवाई कर रहा है, जिसमें अलग-अलग पार्टी के नेताओं द्वारा दवाई ऑक्सीजन और कोरोना के इलाज के लिए जरूर चीजों की होर्डिंग करके अपने-अपने क्षेत्रों के लोगों में बांटने को लेकर शिकायत की गई थी। इस तरह से दवाई और जरूरी चीजों की होर्डिंग कानूनी रूप से नहीं की जा सकती यह गैरकानूनी है। 

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *