69 हजार शिक्षक भर्ती में नवनियुक्त शिक्षकों के हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के प्रमाणपत्रों के सत्यापन के बिना वेतन जारी किया जाएगा। इसके लिए शिक्षकों से शपथपत्र लिया जाएगा। इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया है। इससे पहले 19 मई को विभाग ने आदेश जारी कर स्नातक और प्रशिक्षण जैसे बीएड आदि के प्रमाणपत्रों का सत्यापन न हो पाने पर शपथपत्र लेकर वेतन जारी करने के आदेश दिए गए थे लेकिन अब किसी भी स्तर पर सत्यापन न होने पर शपथपत्र लेकर वेतन जारी किया जाएगा।

शपथपत्र के मुताबिक यदि कोई प्रमाणपत्र फर्जी पाया गया तो उनकी नियुक्ति स्वत: निरस्त समझी जाएगी और गलत प्रमाणपत्रों के आधार पर चयन प्राप्त करने के लिए वह स्वयं उत्तरदायी होंगे और उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। 

उनके द्वारा इस चयन पर प्राप्त वेतन या लाभ आदि राजकीय कोष में जमा किया जाएगा। इस संबंध में वे न्यायालय में किसी भी तरह का वाद नहीं दायर किया जाएगा। इस शिक्षक भर्ती में अक्तूबर व दिसम्बर में दो चरणों में तैनाती दी गई थी।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *