इन दिनों युविका चौधरी के गृह नक्षत्र कुछ ठीक नजर नहीं आ रहे हैं। पिछले कई दिनों से युविका विवादों में घिरी हुई हैं। दरअसल, युविका चौधरी ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया था जिसमें वह अपने पति प्रिंस नरूला के साथ नजर आ रही थीं। उसी दौरान युविका जाति विशेष के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी कर देती हैं। बस फिर क्या था जैसे ही वीडियो वायरल हुआ, मामले ने तूल पकड़ लिया। लोगों का गुस्सा जमकर बाहर आने लगा और उन्होंने युविका के गिरफ्तारी की मांग उठानी शुरू कर दी। अब हरियाणा के हांसी से युविका के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है। हांसी के एडवोकेट रजत कल्सन की शिकायत के आधार पर यह केस दर्ज किया गया है। 

क्या कहा रजत ने शिकायत में ?
एडवोकेट रजत कल्सन ने हांसी के पुलिस अधीक्षक नितिका गहलोत को दी शिकायत में कहा कि युविका चौधरी ने एक वीडियो जारी किया था जिसमें उन्होंने अनुसूचित जनजाति के लिए अपमानजनक शब्द कहे। एडवोकेट ने इस मामले में वीडियो के फुटेज सीडी के माध्यम से दिए थे। हांसी पुलिस की साइबर सेल की टीम ने जांच के बाद अभिनेत्री युविका चौधरी के खिलाफ अनुसूचित जनजाति अधिनियम की धारा 3 (1)(यू) के तहत एफआईआर दर्ज की है जो कि गैर जमानती है।

हालांकि जब यह विवाद शुरू हुआ तो युविका ने माफी भी मांगी थी लेकिन इसका असर कुछ होता नहीं नजर आ रहा है। युविका ने ट्वीट कर लिखा था, ‘हैलो दोस्तों, मैं नहीं जानती थी कि उस शब्द का क्या मतलब है, जो मैंने अपने वीडियो में इस्तेमाल किया। मैं किसी को आहत नहीं करना चाहती थीं और ना ही किसी को चोट पहुंचाना चाहती थी। मैं सभी से माफी मांगती हूं। उम्मीद है कि आप सभी लोग समझेंगे। सभी को प्यार।’ 

बता दें कि एडवोकेट रजत कल्सन इससे पहले क्रिकेटर युवराज सिंह और टीवी सीरियल तारक मेहता का उल्टा चश्मा की अभिनेत्री मुनमुन दता के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज करा चुके हैं। दोनो मामलो में अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *