फतेहपुर के अल्लीपुर में गंगा नदी में रविवार की सुबह पॉली बैग में भरा हुआ एक शव बहकर कोटिया गांव किनारे आकर फंसा तो वहां भीड़ जमा हो गई। कोविड संक्रमण से मौत होने की आशंका पर लोगों ने प्रशासन को इसकी खबर दी। कुछ ही देर बाद एसडीएम बिंदकी सहित कई अधिकारी, डॉक्टर वहां पहुंचे।

शव को पूरी सुरक्षा से बाहर निकालकर उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। मलवां थाना क्षेत्र का कोटिया गांव गंगा नदी किनारे स्थित है। रविवार की सुबह यहां के लोग नदी किनारे पहुंचे तो यहां पर एक बड़े प्लास्टिक बैग में शव भरा हुआ देखा जो नदी किनारे आकर फंसा हुआ था।

कुछ ही देर में वहां भीड़ जमा हो गई। ग्रामीणों ने इसकी खबर प्रशासन को दी। इसके बाद एसडीएम बिंदकी विजय शंकर तिवारी, तहसीलदार, खंड विकास अधिकारी मलवां प्रतिमा वर्मा, एसओ मलवा अरविंद सिंह, डॉक्टर अमलेश जोशी टीम के साथ नदी किनारे पहुंचे। टीम ने पीपीई किट पहनकर पूरी सुरक्षा के साथ शव को बाहर निकाला।

डॉक्टर ने शव का निरीक्षण किया और उसके  बाद अंतिम संस्कार का फैसला लिया गया। शव पूरी तरह से क्षत-विक्षत हो चुका था। घाट किनारे ही उसका दाह संस्कार किया गया। मौजूद ग्रामीणों ने कहा कि कोविड संक्रमण के चलते गांव में दवा छिड़काव कराया जाना चाहिए। एसडीएम ने तुरंत गांव में सैनिटाइजेशन अभियान चलाने को कहा। इससे संक्रमण का खतरा न हो सके।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *