यूपी पंचायत चुनाव नवनिर्वाचित प्रधानों से सीएम योगी ने शुक्रवार को संवाद किया. सीएम योगी ने ग्राम प्रधानों को सलाह देते हुए कहा कि बिना भेदभाव के कार्य करें. याद रखिये कि अब आप ग्राम प्रधान बन चुके हैं, कोई पार्टीबाजी नहीं करेंगे, सबको सुविधाओं का लाभ देने का कार्य करेंगे, जिसने आपको वोट दिया उसको भी और जिसने नहीं दिया है, उसको भी. हर लाभ मिलना सुनिश्चित करें.

मुख्यमंत्री के अलावा राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने भी प्रदेश के नवनिर्वाचित प्रधानों से संवाद किया.मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों से संवाद करते हुए कहा कि आपका दायित्व बहुत महत्वपूर्ण है. ऐसे समय में जबकि कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई निर्णायक चरण में पहुंच रही है, तब आपकी भूमिका और अधिक महत्वपूर्ण हो जाती है.पंचायती राज व्यवस्था हमारे लोकतांत्रिक प्रणाली की अत्यंत महत्वपूर्ण कड़ी है. यह हमारे लोकतंत्र की मजबूती के आधार हैं. आप सभी इस पद की गरिमा के अनुरूप इसके उद्देश्य को निश्चित ही सफल करेंगे.

शपथ लेने से पहले ही काम शुरू कियाः CM योगी

उन्होंने कहा, ‘मुझे प्रसन्नता है कि बहुत से ग्राम प्रधानों ने शपथ ग्रहण की औपचारिकता की प्रतीक्षा किए बगैर, परिणाम के तत्काल बाद निगरानी समितियों के साथ मिलकर काम शुरू कर दिया. पिछले दिनों मैं सहारनपुर गया था, वहां मैंने देखा कि एक महिला प्रधान, कोरोना मरीजों को अपने घर से भोजन उपलब्ध करा रहीं थीं. उनके रहने के लिए ग्राम पंचायत भवन का उपयोग किया. ऐसे अनेक प्रेरणास्पद कार्य पूरे प्रदेश में हो रहे हैं.सीएम योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन और जनता के सहयोग के कारण ही आज यह स्थिति है कि जिस प्रदेश के बारे में विशेषज्ञों ने अनुमान लगाया था कि मई में यहां हर दिन एक लाख केस आएंगे, वहां आज कुल मरीजों की संख्या 52,000 है. बीते 24 घंटों में यहां मात्र 2402 नए कोरोना मरीज पाए गए है. हमारी रिकवरी रेट बहुत अच्छी है तो पॉजिटिविटी दर 01 से नीचे आ गई है.

सतर्कता और सावधानी बहुत आवश्यकः CM योगी

उन्होंने कहा कि हम कोरोना की दूसरी लहर से लड़ते हुए आज उस स्थिति में हैं, जहां से सजगता, सतर्कता, सावधानी बहुत आवश्यक है. ग्राम प्रधान के रूप में आप सभी अपने-अपने गांवों की निगरानी समितियों के अध्यक्ष हैं. हमारी निगरानी समितियों ने अब तक बहुत ही अच्छा कार्य किया है. एक-एक घर जाकर लोगों की स्क्रीनिंग की, जरूरत के अनुसार उन्हें मेडिकल किट दिया. लोगों के टेस्ट कराए, क्वारन्टीन किया. निगरानी समितियों के पास इन्फ्रारेड थर्मामीटर है, सैनेटाइज़र है. अब आप की देखरेख में यह कार्य तेजी से और आगे बढ़ेगा.

उन्होंने कहा कि गांव में बाहर से कोई भी आये उस पर नजर रखें, पूरी सजगता बरतें, ‘मेरा गांव कोरोना मुक्त गांव’ के संदेश को हर ग्रामवासी का लक्ष्य बनाने के लिए प्रेरित करें. इसके लिए पंचायतों में एक स्वस्थ प्रतिस्पर्धा का भाव होना चाहिए.

उन्होंने कहा कि कोरोना का हम सभी पर बहुत असर पड़ा है. हमारी प्राथमिकता जीवन और जीविका दोनों को बचाना है. केंद्र सरकार और राज्य सरकार सभी के भरण-पोषण की व्यवस्था कर रही है. प्रधानमंत्री की प्रेरणा से जून और जुलाई में निःशुल्क राशन दिया जा रहा है तो राज्य सरकार जून, जुलाई और अगस्त में राशन वितरण करेगी. ग्राम प्रधान गण यह सुनिश्चित कराएं कि एक भी पात्र व्यक्ति राशन से वंचित न रहे. सभी दुकानों पर कोरोना प्रोटोकॉल का पालन हो.

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *