आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चक्रवात यास की वजह से ओडिशा और बंगाल में हुए नुकसान का हवाई दौरा कर रहे हैं। इसके बाद पीएम मोदी राज्य सरकारों के साथ चक्रवात यास से प्रभावित इलाकों की समीक्षा करेंगे। वहीं बंगाल में तूफान यास से हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए बुलाई गई बैठक में सुवेंदु अधिकारी को भी आमंत्रण दिया गया है, जिस पर ममता बनर्जी ने नाराजगी जताई है।

ऐसा बताया जा रहा है कि बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बैठक में शामिल नहीं होंगी। हालांकि ममता बनर्जी मात्र एक दस्तावेज को सौंपने के लिए कलाईकुंडा एयरफोर्स स्टेशन जाएंगी, जहां पीएम मोदी के साथ बैठक बुलाई गई है। ऐसा माना जा रहा है कि ममता के इस कदम के बाद से राज्य और केंद्र सरकार के बीच मतभेद और बढ़ सकता है।

यास तूफान को लेकर प्रधानमंत्री मोदी की समीक्षा बैठक में पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़, ममता बनर्जी, केंद्रीय मंत्री और सांसद देवाश्री चौधरी और केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को शामिल होना है। इसके अलावा बंगाल विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी को भी इस बैठक में शामिल होना है, जिसके बाद ममता बनर्जी ने बैठक में आने से मना कर दिया है। 

ममता बनर्जी ने प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उत्तर 24 परगना जिले में चक्रवात प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया। उन्होंने बताया कि मुख्य सचिव अलापन बंदोपाध्याय के साथ मुख्यमंत्री ने हिंगलगंज, हसनाबाद, संदेशखली, पिनाखा और जिले के अन्य इलाकों में चक्रवात के बाद की स्थिति का जायजा लिया।

बनर्जी ने कहा, ‘‘मैंने देखा है कि अधिकतर क्षेत्र जलमग्न हैं। मकान और खेतों के बड़े भू-भाग जलमग्न हैं। इस संबंध में फील्ड सर्वेक्षण भी किया जाएगा।’’ उन्होंने जिलाधिकारियों, पुलिस अधीक्षकों और खंड विकास पदाधिकारियों के साथ प्रशासनिक बैठक भी की। पूर्वी मेदिनीपुर, दक्षिण एवं उत्तर 24 परगना जिलों में कई इलाके चक्रवात ‘यास’ से प्रभावित हैं। बनर्जी बाद में दक्षिण 24 परगना जिले के चक्रवात प्रभावित इलाकों और पूर्वी मेदिनीपुर में तटीय शहर दीघा का भी दौरा करेंगी।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *