भारतीय तटरक्षक के जहाज वैभव और वज्र द्वारा कोलंबो के समुद्री तट के करीब कंटेनर पोत एमवी एक्स-प्रेस पर्ल पर लगी भीषण आग को बुझाने के प्रयास जारी है। आईसीजी डोर्नियर विमान ने आकलन एवं सहायता के लिये क्षेत्र में उड़ान भरी। इलाके में तेल रिसाव की कोई सूचना नहीं है। आईसीजी जहाज समुद्र प्रहरी, जो एक विशेष प्रदूषण प्रतिक्रिया (पीआर) पोत है, को भी प्रदूषण प्रतिक्रिया के दृष्टिकोण से भेजा गया है ताकि अग्निशमन प्रयासों को बढ़ाया जा सके एवं तेल के रिसाव की स्थिति से निपटा जा सके। आईसीजी ने श्रीलंकाई अधिकारियों के अनुरोध और भारत सरकार के निर्देशों के अनुसार अपने संसाधनों की तैनाती की है।

संकटग्रस्त पोत एमवी एक्स-प्रेस पर्ल नाइट्रिक एसिड और अन्य खतरनाक आईएमडीजी कोड रसायनों के साथ 1486 कंटेनर ले जा रहा था। तेज आग, कंटेनरों को नुकसान और मौजूदा खराब मौसम के कारण पोत एक तरफ झुक गया जिसके परिणामस्वरूप कंटेनर पानी में गिर गए। आग पर काबू पाने के लिए आईसीजी के दो जहाजों और श्रीलंकाई अधिकारियों के चार टग्स द्वारा संयुक्त प्रयास जारी हैं।

आईसीजी के जहाज वज्र ने 26 मई 2021 की शाम को कोलंबो बंदरगाह में प्रवेश किया था और आज प्रातः अग्निशमन अभियानों में शामिल होने से पहले जहाज़ ने श्रीलंका के अधिकारियों को 4500 लीटर एएफएफएफ कंपाउंड और 450 किलोग्राम ड्राई केमिकल पाउडर सौंपा। आईसीजी ने प्रदूषण प्रतिक्रिया की दिशा में तत्काल सहायता के लिए कोच्चि, चेन्नई और तूतीकोरिन में अपने संसाधन भी स्टैंडबाय पर रखे हैं। एमवी एक्स-प्रेस पर्ल में आग को रोकने की दिशा में कुल मिलाकर उठाए जा रहे कदमों एवं अभियानों में तेज़ी लाने के लिए श्रीलंकाई तटरक्षक एवं अन्य श्रीलंकाई प्राधिकारियों के साथ निरंतर समन्वय बनाए रखा जा रहा है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *