आज सप्ताह के तीसरे कारोबारी दिन यानी बुधवार को शेयर बाजार हरे निशान पर बंद हुआ। सेंसेक्स आज 12 मार्च के बाद पहली बार 51 हजार के पार निकला है। आईटी शेयरों में खरीदारी से बाजार को सपोर्ट मिला है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 379.99 अंक यानी 0.77 फीसदी ऊपर 51,017.52 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 93.00 अंक यानी 0.61 फीसदी की तेजी के साथ 15,301.45 के स्तर पर बंद हुआ। पिछले सप्ताह बीएसई सेंसेक्स 1,807.93 अंक यानी 3.70 फीसदी मजबूत हुआ। निफ्टी में लगातार चौथे दिन तेजी आई।

बीएसई एसएमई मंच पर सूचीबद्ध होंगी 60 से अधिक छोटी कंपनियां
अपनी कारोबारी जरूरतों के लिए इक्विटी कोष जुटाने को 60 से अधिक लघु एवं मझोले उपक्रम (एसएमई) एक साल में अपना आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) लाएंगे। बीएसई के एसएमई और स्टार्टअप प्रमुख अजय ठाकुर ने कहा कि इन कंपनियों को एक्सचेंज के एसएमई प्लेटफॉर्म पर सूचीबद्ध किया जाएगा। एसएमई की सूचीबद्धता से एसएमई की पहचान बढ़ती है और साथ ही उनके ब्रांड का निर्माण भी होता है। इसके अलावा इससे उनकी क्रेडिट रेटिंग में सुधार होता है और उन्हें आसानी से वित्त की सुविधा तथा वृद्धि के अवसर उपलब्ध होते हैं। पिछले साल सिर्फ 16 एसएमई ने आईपीओ के जरिए 100 करोड़ रुपये जुटाए थे।

दिग्गज शेयरों का हाल
दिग्गज शेयरों की बात करें, तो आज बजाज फिनसर्व, बजाज फाइनेंस, इंफोसिस, ग्रासिम और विप्रो के शेयर हरे निशान पर बंद हुए। वहीं जेएसडब्ल्यू स्टील, पावर ग्रिड, हिंडाल्को, टाटा स्टील और एनटीपीसी के शेयर लाल निशान पर बंद हुए। 

सेक्टोरियल इंडेक्स पर नजर
सेक्टोरियल इंडेक्स पर नजर डालें, तो आज पीएसयू बैंक और मेटल के अतिरिक्त सभी सेक्टर्स हरे निशान पर बंद हुए। इनमें बैंक, फाइनेंस सर्विसेज, एफएमसीजी, रियल्टी, फार्मा, आईटी, मीडिया, ऑटो और फार्मा शामिल हैं। 

हरे निशान पर खुला था बाजार
शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 166.86 अंकों (0.33 फीसदी) की तेजी के साथ 50804.39 के स्तर पर खुला था। वहीं निफ्टी 34.00 अंक (0.22 फीसदी) ऊपर 15242.50 के स्तर पर खुला था। 

मंगलवार को सपाट स्तर पर बंद हुआ था शेयर बाजार 
मंगलवार को शेयर बाजार सपाट स्तर पर बंद हुआ था। सेंसेक्स 14.37 अंक यानी 0.03 फीसदी नीचे 50637.53 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं निफ्टी 10.75 अंक यानी 0.07 फीसदी की मामूली तेजी के साथ 15208.45 के स्तर पर बंद हुआ था।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *