मुख्यमंत्री बनर्जी ने बताया कि मछलियां पकड़ने गए एक व्यक्ति की ‘दुर्घटनावश’ मौत हो गई। उन्होंने लोगों को सचेत किया कि तूफान के कारण समुद्र में ऊंची लहरें उठती रहेंगी। उन्होंने दावा किया कि बंगाल चक्रवात से सबसे अधिक प्रभावित हुआ है। मुख्यमंत्री ने बताया कि 15 लाख चार हजार 506 लोगों को संवेदनशील स्थानों से सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

ममता बनर्जी ने कहा, ‘मैं पूर्व मेदिनीपुर, दक्षिण 24 परगना और उत्तर 24 परगना जिलों में प्रभावित इलाकों का जल्द ही हवाई सर्वेक्षण करूंगी।’ उन्होंने बताया कि अभी राज्य सरकार के पास चक्रवात यास के कारण हुए नुकसान से संबंधित प्रारंभिक आंकड़े हैं। बनर्जी ने कहा कि नुकसान संबंधी सटीक जानकारी मिलने में अभी कम से कम 72 घंटे का समय लगेगा।

बता दें कि चक्रवात ‘यास’ बुधवार सुबह करीब नौ बजे तट पर टकराया था। इसके साथ ही उत्तरी ओडिशा और पड़ोसी राज्य पश्चिम बंगाल में भीषण चक्रवाती तूफान ने अपना प्रभाव दिखाना शुरू कर दिया जहां इस दौरान 130-140 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *