बंगाल की खाड़ी से उठने वाले तूफान यास का असर बुधवार यानी 26 मई से देखने को मिलेगा। इसकी वजह से वाराणसी समेत पूर्वांचल में भारी बारिश की संभावना बनी है। मौसम वैज्ञानिक के मुताबिक, तेज हवा के साथ भारी बारिश होने के आसार हैं। इस वजह से तापमान में भी 10 से 15 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की जा सकती है। पिछले सप्ताह ताउते तूफान की वजह से भी तापमान 41 डिग्री से कम होकर 28 डिग्री सेल्सियस तक आ गया था। हालांकि दो दिन से दिन में तेज धूप होने की वजह से उमस भी बढ़ गई है।

सोमवार को भी दोपहर तक धूप रही, लेकिन दोपहर बाद से हल्के बादल छाए। मौसम वैज्ञानिक एसएन पांडेय ने बताया कि बंगाल की खाड़ी से उठने वाले तूफान यास की वजह से बनारस सहित आसपास के जिलों में भारी बारिश की संभावना बनी है। 26 मई से इसका असर भी देखने को मिल सकता है।

 जिस तरह  चक्रवात ताउते की वजह से एक दिन में 80 से 90 मिली मीटर बारिश हुई, यास तूफान  में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिल सकता है। रविवार को जहां अधिकतम तापमान 39.2 डिग्री सेल्सियस था वही सोमवार को एक डिग्री कम होकर 38.4 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया।

बता दें कि  बंगाल में आ रहे चक्रवात यास को मात देने और लोगों की उससे रक्षा करने के लिए एनडीआरएफ की पांच टीमों को वाराणसी से बंगाल भेजा गया है।

बता दें कि  बंगाल में आ रहे चक्रवात यास को मात देने और लोगों की उससे रक्षा करने के लिए एनडीआरएफ की पांच टीमों को वाराणसी से बंगाल भेजा गया है।

तूफान यास आने की आहट से पूर्व मध्य रेलवे ने पुरी और भुवनेश्वर सहित कई रूटों पर ट्रेनों को अस्थायी तौर पर रद्द कर दिया है। इसी क्रम में आनंद विहार से चलकर लखनऊ होते हुए पुरी तक जाने वाली नीलांचल एक्सप्रेस, विभूति एक्सप्रेस, पुरुषोतम एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों के परिचालन पर ब्रेक लगा है।  

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *