प्रदेश में भाजपा सरकार और संगठन में फेरबदल की अटकलें तेज हो गई हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मंडलीय दौरों के बीच सोमवार को संगठन के पदाधिकारियों से लेकर कई मंत्रियों के बदले जाने की खबरें तैरती रहीं। सोशल मीडिया पर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को दिल्ली बुलाने की खबरें वायरल होती रहीं। इससे राजधानी में सियासी तापमान भी बढ़ गया। हालांकि देर शाम केशव ने खुद साफ किया कि वह लखनऊ में ही मौजूद है।

अटकलें लगाई जा रही हैं कि जल्द ही मंत्रिमंडल विस्तार हो सकता है। कुछ मंत्रियों की या तो छुट्टी हो सकती है या पर कतरे जा सकते हैं। पिछले दिनों नौकरशाह से राजनेता बने पीएम नरेंद्र मोदी के करीबी अरविंद कुमार शर्मा की योगी से भेंट के बाद से सियासी सरगर्मियां तेज हो गई हैं। पीएम ने वाराणसी में उनके कोरोना प्रबंधन की जिस तरह तारीफ की है, माना जा रहा है कि उन्हें मंत्रिमंडल में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जा सकती है।

भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व 2022 के विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए सरकार और संगठन में फेरबदल करने के लिए  मंथन कर रहा है। इसे लेकर नई दिल्ली में भाजपा व संघ नेताओं की रविवार बैठक भी हुई। सूत्रों की मानें तो अगले महीने संगठन व सरकार में फेरबदल हो सकता है।

महामारी में खराब प्रदर्शन वालों पर गिर सकती है गाज

  • पंचायत चुनाव में भाजपा को जिन क्षेत्रों और जिलों में अपेक्षित परिणाम नहीं मिला है, वहां के क्षेत्रीय और जिला पदाधिकारियों को हटाया जा सकता है।
  • महामारी के दौरान उम्मीदों के मुताबिक प्रदर्शन न करने वाले मंत्रियों को हटाया जा सकता है या विभाग बदले जा सकते हैं।
  • मंत्रिमंडल के तीन सदस्यों की संक्रमण से मौत हो चुकी है। इसके अलावा कुछ अन्य जगहें भी खाली हैं।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *