कोरोना महामारी के भयंकर प्रकोप के कारण देश की स्वास्थ्य व्यवस्था से लेकर आर्थिक स्थिति तक डगमगा गई है। मूलभूत सुविधाओं के लिए भी आमजन को परेशान होना पड़ रहा है। लोगों ने कभी सोचा नहीं था कि उनके परिजनों की मौत पर कफन मिलना भी मुश्किल हो जाएगा। हालांकि, देश की तमाम सरकारें व प्रशासन संकट की इस घड़ी में हर तरह से लोगों की मदद करने व उन्हें जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराने में जुटे हुए हैं। इस कड़ी में कोरोना से बड़ी संख्या में हो रही मरीजों की मौत को देखते हुए झारखंड सरकार लोगों को अंतिम संस्कार के लिए मुफ्त में कफन उपलब्ध करा रही है। इस बीच सरकार की इस पहल पर राजनीतिक बयानबाजी भी शुरू हो गई है। दरअसल, भाजपा नेता दीपक प्रकाश ने मुफ्त कफन के लिए हेमंत सोरेन सरकार पर निशाना साधा है।

भाजपा ने कसा तंज
बता दें, दीपक प्रकाश ने ट्वीट कर कहा कि अजीब विडंबना है कि जहां एक ओर केंद्र सरकार देशवासियों की जान बचाने के लिए युद्ध स्तर पर काम कर रही है, वहीं दूसरी ओर झारखंड की ठगबंधन सरकार जनता को फ्री में कफन बांटने में जोर लगा रही है।

झामुमो ने दिया जवाब
वहीं, दीपक प्रकाश के ट्वीट पर सत्ताधारी झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) ने भी पलटवार किया है। झामुमो की तरफ से किए गए ट्वीट में कहा गया, ‘हेमंत सरकार निःशुल्क वैक्सीन भी दे रही है लेकिन घटिया राजनीति के कारण आपको सिर्फ कफन ही नजर आती है।’
 

झामुमो ने किया पलटवार
इतना ही नहीं ने झामुमो उत्तर प्रदेश को लेकर भी तंज कसते हुए कहा, ‘वैसे आपके ‘उत्तम’ प्रदेश में मां गंगा में तैरते गरीब के शव, रेत में दबे गरीब के शव, कुत्तों-गिद्धों की ओर से नोचे जा रहे गरीबों के शव का नजारा ही शायद आपको पसंद है इसलिए किसी को मौत के बाद कफन नसीब होने देना आपको रास नहीं आ रहा। आपका बस चले तो कफन का कारोबार भी किसी उद्योगपति को बेच दें।’ पार्टी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर कहा कि वैसे आपके नेता कई राज्यों में नीचता की हद तक गिरकर कफन की चोरी करते हुए भी पकड़े गए हैं। आप लोगों के ने तो कारगिल में सैनिकों के ताबूत भी लूट लिए थे।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *