कर्नल पंजाब सिंह (सेवानिवृत्त) का 79 वर्ष की आयु में कमांड अस्पताल में निधन हो गया है। हाल ही में वह कोरोना को मात देकर स्वस्थ हुए थे। लेकिन पोस्ट कोविड दिक्कतों के चलते उन्होंने दम तोड़ दिया। इसकी जानकारी सैन्य प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने दी। उनका जन्म 15 फरवरी 1942 को हुआ था। उन्हें 16 दिसंबर 1967 को सिख रेजिमेंट की 6वीं बटालियन में नियुक्त किया गया था। उन्होंने 12 अक्तूबर 1986 से 29 जुलाई 1990 तक प्रतिष्ठित बटालियन की कमान संभाली। वह 1971 के युद्ध में हुई पुंछ की लड़ाई के नायक रहे हैं। उनकी वीरता के किस्से आज भी याद किए जाते हैं।

बता दें कि 1971 की जंग में एक अहम लड़ाई पुंछ के पहाड़ों पर लड़ी गई थी। जिसमें दुश्मन ने पुंछ पर कब्जा करने की नापाक साजिश रची थी। पाकिस्तान के सैनिकों की संख्या अधिक होने के बावजूद भारतीय सेना की 6वीं सिख बटालियन के जांबाजों ने दुश्मन के मंसूबे नाकाम कर दिए। इस लड़ाई के वह नायक थे।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *