आगरा के थाना सिकंदरा क्षेत्र में सोमवार दोपहर को नकाबपोश चार बदमाशों ने डॉक्टर रजनीकांत शर्मा के घर में 11 लाख की लूट की। बदमाश एक अन्य मकान खरीदने के लिए एडवांस देने के बहाने घर में दाखिल हुए। डॉक्टर के पिता, पत्नी और सास-ससुर पर तमंचे तानकर बंधक बना लिया। 

टेप से मुंह और हाथ बांध दिए। इसके बाद अलमारी से सात लाख रुपये और जेवरात निकाल लिए। बाद में लैपटॉप, सात मोबाइल, घड़ियां, डीवीआर, बाइक लूटकर फरार हो गए। बदमाश एक घंटे तक घर में रहे। सूचना पर एसपी सिटी बोत्रे रोहन सहित फोर्स पहुंची। पुलिस को शाम तक कोई सुराग नहीं लगा। 

केके नगर निवासी डॉक्टर रजनीकांत शर्मा खैरगढ़, फिरोजाबाद स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में तैनात हैं। केके नगर में मुख्य मार्ग पर उनकी कोठी है। उन्होंने पुलिस को बताया कि हाल ही में 100 गज का एक मकान बेचा है। वहीं दूसरा मकान अकबर टूम के पीछे है। उसे बेचने के लिए कुछ लोगों को बताया था। 
 

मकान खरीदने के बहाने आए थे बदमाश 
रविवार को तीन लोग मकान खरीदने के लिए आए थे। तब रजनीकांत शर्मा नहीं थे। इस पर तीनों चले गए थे। सोमवार दोपहर को वो पत्नी कामिनी को अल्ट्रासाउंड के लिए लेकर गए थे। घर में 80 वर्षीय पिता छविराम शर्मा, सास शकुंतला और ससुर हरीशंकर शर्मा मौजूद थे।

दोपहर ढाई बजे चार बदमाश घर में दाखिल हुए। उन्होंने चेहरे पर दो-दो मास्क लगाए थे। परिजनों को बताया कि 12 लाख रुपये में मकान खरीदना चाहते हैं। इसके लिए एडवांस भी लेकर आए हैं। छविराम ने बेटे नहीं होने के कारण कुछ देर बाद आने के लिए बोल दिया। इस पर वो इंतजार करने की कहकर बैठ गए।

सवा तीन बजे कामिनी और रजनीकांत शर्मा आ गए। कामिनी और उनकी मां किचिन में चाय बनाने लगीं। एक बदमाश ने एडवांस रकम देने की कहकर बैग खोला। कैश के बजाए बदमाशों ने पिस्टल और तमंचे निकाल लिए। पांचों की कनपटी पर तानकर जान से मारने की धमकी दी। बदमाश अपने साथ पैकिंग टेप लेकर आए थे। 
टेप से बांधे हाथ-पैर
बदमाशों ने टेप से डॉ. रजनीकांत, उनके पिता, समधी और समधन के हाथ-पैर बांध दिए। कामिनी शर्मा ने कहा कि वह गर्भवती है। इसलिए उनके हाथ नहीं बांधे। उनसे बदमाशों ने अलमारी की चाबियों के बारे में पूछा। उनके इनकार पर पति को गोली मारने की धमकी दी। इस पर डॉ. रजनीकांत शर्मा ने चाबियां बैग में रखी होने के बारे में बताया। 

कामिनी से बैग मंगवाकर चाबी लेकर बदमाशों ने अलमारी को खंगाला। उसमें रखे तकरीबन सात लाख रुपये, दो लाख के सोने के जेवरात, सात घड़ियां निकाल ली। इसके बाद दूसरे कमरे से लैपटॉप ले लिया। ड्राइंग रूम से डीवीआर निकाल ली। यहां एक कैमरा भी तोड़ दिया। 

एक घंटे रुकने के बाद बदमाशों ने कामिनी के हाथ और मुंह पर टेप लगाकर बंद करके भाग गए। जाते समय कार और बाइक की चाबी उठा ली। मगर, बाइक ही बदमाश ले जा सके। कार को छोड़ गए। बदमाशों के भागने पर परिजनों ने अपने हाथ खोले। इसके बाद पड़ोस में रहने वाले दरोगा पूरन सिंह को जानकारी दी। 
उन्होंने पुलिस को सूचना दी। 10 मिनट में पुलिस पहुंच गई। एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद ने बताया कि सात लाख रुपये, दो लाख के जेवरात सहित अन्य सामान लूटा है। बदमाशों की संख्या चार बताई गई है। सीसीटीवी फुटेज चेक किए जा रहे हैं। पुलिस टीम को लगाया गया है।

…तो पैदल ही आए थे बदमाश 
डाक्टर रजनीकांत के घर के बाहर ही एक दुकान है। दुकानदार महिला ने पुलिस को बताया कि बदमाश पैदल आए थे। वह अंदर दाखिल हो रहे थे। तब वह खड़ी थी। वारदात के बाद में दो बदमाश आगे हाईवे की तरफ जाने वाले रास्ते पर चले गए। एक अंदर से बाइक लेकर आया। आगे जाकर तीन बदमाश एक साथ बाइक से गए, जबकि चौथा पैदल चला गया। इसके बाद पता नहीं।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *