कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की तैयारी पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक्शन मोड में आ गए हैं। सीएम इटावा और कानपुर के बाद रविवार सुबह बुंदेलखण्ड में कोरोना मरीजों के इलाज और तीसरी लहर की तैयारी का जायजा लेने झांसी पहुंचे। तीसरी लहर से निपटने की तैयारियों पर सीएम ने झांसी में अफसरों की क्लास ली, फटकार लगाने के साथ उनको समझाया क्या करना है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ठीक 11 बजे झांसी के पुलिस लाइन हेलीपैड पर उतरे। यहां से वह सीधे कलेक्ट्रेट में बनाए गये इंटीग्रेटेड कोविड-19 कंट्रोल एंड कमांड सेंटर पहुंचे। जिलाधिकारी आंद्रा वामसी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कोरोना की स्थिति और सेंटर की व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी दी। सीएम ने सेंटर को कैसे संचालित करते हैं और टेस्टिंग, वैक्सिनेशन के बारे में भी पूछा। सीएम ने मेडिकल कालेज में लगे सीसीटीवी कैमरे के बारे में भी जानकारी ली और अफसरों से पीड़ितों की मदद के बारे में सवाल भी किए।

इस दौरान सीएम योगी ने कहा कि गंभीर मरीजो को लेकर कोई लापरवाही न बरती जाए, सीएम ने झांसी में संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्या को लेकर चिंता जाहिर की। इसी सेंटर पूरे जिले में कोरोना मरीजों के इलाज पर नजर रखने के साथ पीड़ितों की मदद की जा रही है। कमांड सेंटर की वर्किंग देखने के बाद सीएम योगी महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज के सभागार पहुचें।

झांसी मंडल के जनप्रतिनिधियों से फीडबैक लेने के बाद मंडल भर के प्रशासनिक, पुलिस, स्वास्थ्य विभाग और मेडिकल कालेज के अफसरों की क्लास ली। उन्होंने एक-एक करके जिलों के सभी अधिकारियों से सवाल किए। संक्रमण की स्थिति के साथ वैक्सीनेशन और टेस्टिंग के बारे में पूछा। तीसरी लहर से निपटने की तैयारियों की जानकारी मांगी जिसमें कई अधिकारी गड़बड़ाए। सीएम ने हिदायत दी कि सभी अफसर एक्शन में आ जाएं और युद्ध स्तर पर तीसरी लहर से निपटने की तैयारियों में जुट जाएं। जालौन और ललितपुर के जिलाधिकारी व अन्य अफसर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बैठक में जुड़े हैं।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *