लखनऊ: उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में आंशिक कर्फ्यू के दौरान एक सब्जी बेचने वाले पर पुलिस का कहर इस कदर टूटा कि उसकी जान निकल गई. घटना से आक्रोशित परिजनों व स्थानीय लोगों ने हरदाई मार्ग जाम कर प्रदर्शन आरंभ कर दिया. जिसके बाद मामले की सूचना  उच्चाधिकारियों तक पहुंची और उनके हाथ पांव फूल गए.

मामला इतना बढ़ गया कि भीड़ को नियंत्रित करने के लिए आनन-फानन में कई थानों की पुलिस फोर्स बुलानी पड़ी. हालांकि उच्चाधिकारियों ने गुस्साए लोगों को समझा बुझाकर कर शव का पोस्टमार्टम करा दिया व दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ एक्शन भी ले लिया. जानकारी के अनुसार, उन्नाव जनपद के बांगरमऊ कस्बे के मोहल्ला भटपुरी का निवासी फैसल (18) पुत्र इस्लाम ठेले पर सब्जी लेकर फेरी लगाता था. शनिवार को पुलिस ने कोरोना कर्फ्यू में सब्जी बेचने के आरोप में उससे पूछताछ करनी चाही तो वह भाग निकला. आरोप है कि पुलिस ने उसे दौड़ा कर पकड़ा और मारते-मारते कोतवाली ले गयी |

वहां भी उसके साथ मारपीट की गयी. पुलिस की पिटाई के दौरान अचानक उसकी तबियत बिगड़ गयी. यह देख उसे स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया तो डाॅक्टरों ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया. इसकी सूचना मिलते ही परिवार वालों के साथ भारी संख्या में लोगों की भीड़ स्वास्थ्य केंद्र पहुंच गयी. लोगों को देख पुलिस वाले वहां से गायब हो गए. घटना से आक्रोशित परिवार वालों व स्थानीय लोगों ने हरदोई मार्ग जाम कर प्रदर्शन शुरू कर दिया. जिसके बाद आलाधिकारियों ने पहुंचकर मामला ठंडा कराया.

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *