चक्रवाती तूफान ताउते के कहर बरपाने के बाद बुधवार को अहमदाबाद में एक पांच मंजिला इमारत गिर गई। बता दें कि इस इमारत में रहने वाले सभी लोगों को समय रहते यहां से बाहर निकाल लिया गया था, जिससे किसी तरह की अनहोनी को समय रहते टाल दिया गया।

घटना अहमदाबाद के जमालपुर इलाके की है। चक्रवात ताउते की वजह से चलीं बेहद तेज हवाओं के चलते यह इमारत मंगलवार को ही हिलने लगी थी। तभी इस इमारत को खाली करवा दिया गया था। हादसे में अभी तक किसी के मरने या घायल होने की घबर नहीं मिली है।

पीएम ने किया प्रभावित इलाकों का दौरा, 1000 करोड़ की मदद
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चक्रवात ‘ताउते’ से हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए बुधवार को गुजरात और केंद्र शासित क्षेत्र दीव के प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया। इसके बाद हुई एक समीक्षा बैठक के बाद उन्होंने राहत संबंधी तत्काल गतिविधियों के लिए 1000 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता की घोषणा की।
प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक प्रधानमंत्री ने कहा कि ताउते चक्रवात से पैदा हुई परिस्थिति को देखते हुए केंद्र सरकार प्रभावित राज्यों के साथ मिलकर काम कर रही है। राज्य सरकारों की ओर से नुकसान का ब्योरा भेजे जाने के बाद उन्हें तत्काल केंद्रीय सहायता मुहैया कराई जाएगी।

ताउते गुजरात में आया अब तक का सबसे भयावह चक्रवात रहा  
यह राज्य में आया, अब तक का सबसे भयावह चक्रवात बताया जा रहा है। ताउते के कारण सौराष्ट्र से लेकर उत्तरी गुजरात के तट तक भारी बारिश देखने को मिली। कम से कम 46 तालुका में 100 मिलीमीटर से ज्यादा बारिश हुई जबकि 12 में 150 से 175 मिलीमीटर तक बारिश दर्ज की गई।

मौसम विभाग ने कहा कि ताउते गुजरात के तट से ‘बेहद गंभीर चक्रवाती तूफान’ के तौर पर आधी रात के करीब गुजरा और धीरे-धीरे कमजोर होकर ‘गंभीर चक्रवाती तूफा’ और बाद में और कमजोर होकर अब ‘चक्रवाती तूफान’ में बदल गया है। ताउते दोपहर बाद अहमदाबाद जिले की सीमा से लगते हुए उत्तर की तरफ बढ़ गया। इससे पहले और इस दौरान भी यहां लगातार भारी बारिश हुई जिससे शहर के कई इलाकों में घुटनों तक पानी भर गया।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed