राष्ट्र कोरोना वायरस के खिलाफ एक गंभीर लड़ाई लड़ रहा है और संकट के इस समय में वैक्सीन, ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स, ऑक्सीमीटर और अन्य आवश्यक चिकित्सा सामान की आपूर्ति महत्वपूर्ण है। इस लड़ाई में, नागरिक उड्डयन मंत्रालय और विभिन्न हवाई अड्डे और एयरलाइन्स तथा उनके कोरोना योद्धा, विभिन्न शहरों / राज्यों से आने या बाहर जाने वाली सभी आवश्यक चिकित्सा वस्तुओं की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। कोलकाता हवाई अड्डा, कोविड-19 के खिलाफ इस जंग में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। कोलकाता हवाई अड्डे से आने-जाने वाली वैक्सीन और अन्य आवश्यक चिकित्सा सामान के आवागमन का विवरण निम्नलिखित है:

26.04.2021

●     कोविड वैक्सीन (कोविशील्ड) के 50 डिब्बे पुणे से प्राप्त हुए

●     कोविड वैक्सीन (कोविशिल्ड) के 38 डिब्बे पूर्वोत्तर भारत और पोर्ट ब्लेयर में अलग-अलग स्थान पर भेजे गए

28.04.2021

●     कोविड-19 वैक्सीन के 05 डिब्बे सिक्किम भेजे गए थे।

●     पुणे हवाई अड्डे से कोलकाता हवाई अड्डे पर कोविशिल्ड वैक्सीन के 85 बक्से प्राप्त हुए। उन्हें स्वास्थ्य विभाग को सौंप दिया गया।

●     दोहा से कतर की उड़ान क्यूआर 8094 से ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स के 169 पीस कोलकाता एयरपोर्ट पर पहुंचे।

30.04.2021

●     एयर इंडिया की उडान संख्या- एआई- 715 में आइज़ॉल के लिए 260 किलोग्राम भार के कोविशिल्ड वैक्सीन के 09 डिब्बे भेजे गए।

●     स्पाइसजेट की उड़ान संख्या- एसजी 7634 से कोलकाता एयरपोर्ट पर आक्सीजन कंसन्ट्रेटर के 1290 किलोग्राम वजन वाले 50 बॉक्स आए।

01.05.2021

●     1 मई 2021 को, इंडिगो एयरलाइंस के माध्यम से पूरे भारत में विभिन्न स्थानों पर ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के 47 पीस भेजे गए।

02.05.2021

●     वोल्गा डायनैप्रो एएन 124 विमान में कोलकाता हवाई अड्डे पर 8.2 मीट्रिक टन भार के 12 ऑक्सीजन कंटेनर पहुंचे। इन खाली कंटेनरों का उपयोग तरल चिकित्सा ऑक्सीजन के परीक्षण, प्रसंस्करण और आपूर्ति के लिए किया जाता है।

●     इंडिगो के माध्यम से पूरे भारत में विभिन्न स्थानों पर ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के 30 पीस भेजे गए।

03.05.2021

●     416 किलोग्राम वजन वाले 13 डिब्बो में कोविड वैक्सीन की खेप को एयर इंडिया के विमान से अगरतला भेजा गया।

●     ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स के 9502 किलोग्राम वजन वाले 430 बॉक्स, इंडिगो उड़ान संख्या- 6 ई 7302 से कोलकाता हवाई अड्डे पर पहुंचे थे।

04.05.2021

●     एयर इंडिया विमान के माध्यम से गुवाहाटी, इंफाल और आइजॉल, प्रत्येक जगह कोविड-19 वैक्सीन के 07 बक्से भेजे गए।

●     स्पाइसजेट की उड़ान संख्या एसजी 7009 के माध्यम से ऑक्सीमीटर के 50 पैकेट और हांगकांग से ऑक्सीजन कन्संट्रेटर्स के 252 पैकेट्स कोलकाता हवाई अड्डे पर पहुंचे।

05.05.2021

●     कोलकाता हवाई अड्डे को हैदराबाद से कोवैक्सीन के 564 किलोग्राम वजन के 21 डिब्बे मिले।

●     पुणे हवाई अड्डे से कोविशील्ड वैक्सीन के 1376 किलोग्राम वज़न के 43 बॉक्स स्वास्थ्य विभाग को सौंप दिए गए।

06.05.2021

●     कोलकाता हवाई अड्डे से भारत के विभिन्न शहरों में 2,654 किलोग्राम वजन वाले ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स  के 124 पीस भेजे गए।

●     कोलकाता हवाई अड्डे को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स  के 8924 किलोग्राम वज़न के 430 पैकेट प्राप्त हुए।

07.05.2021

●     भारतीय वायुसेना के विमान ने कोलकाता हवाई अड्डे पर 75 आक्सीजन सिलेंडर पहुंचाए।

●     ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर के 380 पीस अमीरात और स्पाइसजेट विमान के माध्यम से कोलकाता पहुंचे।

●     दिल्ली से भारतीय वायुसेना के सी 130 जे विमान से 2442 किलोग्राम वजन वाले 324 पीस ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स कोलकाता हवाई अड्डे पर प्राप्त हुए जिन्हे हवाई अड्डे पर पहुंचने के 30 मिनट के भीतर पश्चिम बंगाल स्वास्थ्य विभाग को सौंप दिया गया।

●     544 किलोग्राम वजन वाले कोविशील्ड वैक्सीन के 17 बक्से मुंबई से कोलकाता हवाई अड्डे पर पहुंचे और इसे राज्य के स्वास्थ्य विभाग को सौंप दिया गया।

●     288 किलोग्राम वजन के कोविशील्ड वैक्सीन के 9 बक्से कोलकाता हवाई अड्डे से एयर इंडिया के माध्यम से गुवाहाटी पहुंचाए गए।

कोविड वॉरियर्स द्वारा सभी आवागमन को सुचारू रूप से संचालित किया गया था और अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं द्वारा इन खेपों को न्यूनतम समय में सौंप दिया गया था।

Image

7 मई, 2021 को प्राप्त हुए ऑक्सीजन सिलेंडर

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002DY94.jpg

8.2 मीट्रिक टन वजन के ऑक्सीजन कंटेनर्स कोलकाता हवाई अड्डे पर वोल्गा डेनपर एएन124 हवाई जहाज से पहुंचे

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image003C90P.jpg

हैदराबाद से कोवैक्सीन प्राप्त हुई

Image

मुम्बई से कोविशील्ड वैक्सीन 7 मई, 2021 प्राप्त हुई

Image

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स के 430 पैकेट 6 मई, 2021 को प्राप्त हुए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *