पश्चिमी त्रिपुरा के एक मैरिज हॉल में शादी के दौरान लोगों से बदसलूकी करने वाले जिलाधिकारी शैलेश यादव पर गाज गिर गई है। डीएम की बदसलूकी का वीडियो वायरल होने के बाद अब उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है। इस मामले के तूल पकड़ने के बाद मुख्यमंत्री बिप्लब देब ने भी विस्तृत रिपोर्ट मांगी थी और अब उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है।

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद डीएम शैलेश यादव ने माफी भी मांग ली थी। उन्होंने कहा था कि उनका मकसद किसी को अपमानित करने का नहीं था बल्कि लोगों के भले के लिए ऐसा किया था।

मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने इस घटना को लेकर मुख्य सचिव मनोज कुमार से रिपोर्ट मांगी थी। 

क्या है पूरा मामला?
सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो में डीएम शैलेश कुमार यादव को माणिक्य कोर्ट में एक शादी समारोह को रोकते हुए देखा गया। इतना ही नहीं, उन्होंने दूल्हा और दुल्हन को भी बलपूर्वक मैरिज हॉल से भगा दिया। वायरल वीडियो में डीएम शैलेश काफी गुस्से में दिखाई दिए और मैरिज हॉल पर छापा मारते वक्त डीएम ने कोविड गाइडलाइन का पालन नहीं करने वालों को अरेस्ट करने का ऑर्डर दिया। यहां तक कि उन्होंने माणिक्य कोर्ट सहित दो मैरिज हॉल बंद करने की धमकी दी।

बता दें कि त्रिपुरा में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सरकार ने सात घंटे का नाइट कर्फ्यू लगा रखा है। रात दस बजे से नाइट कर्फ्यू का समय शुरू होता है। 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू जारी रहेगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *