छत्तीसगढ़ का ‘कृति कोविड केयर अस्पताल’ इन दिनों कोरोना मरीजों के लिए उम्मीद की किरण बन गया है। 200 बिस्तरों वाले इस कोविड केयर सेंटर में मरीजों के लिए 50 बेड ऑक्सीजन युक्त भी हैं। आगे विस्तार से जानिए कैसे राहत का हाथ बढ़ा रहा है ये अस्पताल…

कोरोना मरीजों का किया जा रहा है नि:शुल्क इलाज

देश में जहां चारों तरफ कोरोना का कहर जारी है, लोग चिकित्सा सुविधाओं के लिए लगातार परेशानियों का सामना कर रहे हैं, ऐसे में छत्तीसगढ़ का ‘कृति कोविड केयर अस्पताल’ कोरोना मरीजों के लिए अंधेरे में रोशनी की किरण बनकर सामने आया है।

अस्पताल में 200 बिस्तरों और ऑक्सीजन की सुविधा

दिलचस्प बात ये है कि यहां कोरोना मरीजों का इलाज एक दम नि:शुल्क किया जा रहा है। साथ ही 200 बिस्तरों वाले इस कोविड केयर सेंटर में 50 बिस्तर ऑक्सीजन युक्त हैं जिससे कोरोना मरीजों की काफी मदद हो रही है।

अस्पताल में सेवाएं दे रहा ये स्टाफ

इस अस्पताल में 10 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भी रखे गए हैं। इसके इलावा यहां 25 नर्सिंग स्टाफ, 5 डॉक्टरों का स्टाफ, साफ-सफाई के लिए कर्मचारी, वार्ड ब्वॉय और डॉक्टरों की एक पूरी टीम है, जो अस्पताल में कंसल्टेंसी दे रही है।

एक समाजसेवी ने उठाया बीड़ा

बता दें, छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस से लोगों का बुरा हाल है। ऐसे में दक्षिणी रायपुर में समाजसेवी बृजमोहन अग्रवाल ने नरदाहा स्थित कृति कॉलेज को कृति कोविड केयर अस्पताल में तब्दील कर एक अनूठी पहल शुरू की है। माना जा रहा है कि यह देश का ऐसा पहला प्राइवेट कोविड सेंटर है जहां, कोविड मरीजों का इलाज बिल्कुल मुफ्त शुरू किया गया है। 

समाजसेवी बृजमोहन ने इस महामारी से निपटने के लिए खुद यह फैसला लिया। इसके लिए उन्होंने कृति कोविड केयर अस्पताल में काम शुरू भी कर दिया है। मरीजों को ऑक्सीजन की कमी न हो इसके लिए ऑक्सीजन पाइप बिछाए गए हैं। खास बात ये है कि यहां 10 डॉक्टरों की टीम मरीजों की देखरेख कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *