कोरोना संक्रमण के बढ़ते केसों को देखते हुए बीजेपी ने बंगाल चुनाव में छोटी रैलियां करने का बड़ा फैसला लिया है। बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा की ओर से लिए गए फैसले में कहा गया है कि किसी भी रैली में 500 से ज्यादा लोगों की मौजूदगी नहीं होगी। यहां तक कि पीएम नरेंद्र मोदी और अन्य केंद्रीय मंत्रियों की जनसभाओं को लेकर भी यह नियम लागू रहेगा। पार्टी की ओर से बताया गया है कि ये सभी सभाएं खुले स्थान में ही होंगी और इस दौरान यह सुनिश्चित किया जाएगा कि कोरोना के प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन किया जाए। बंगाल चुनाव में 5 चरणों का मतदान हो चुका है और तीन राउंड अभी बाकी हैं।

रैलियों में लोगों की संख्या को सीमित करने के साथ ही बीजेपी ने 6 करोड़ मास्क और सैनिटाइजर भी बांटने का फैसला लिया है। इसके अलावा पार्टी ने देश के सभी राज्यों में अपनी ओर से COVID19 हेल्पडेस्क और हेल्पलाइन शुरू करने का भी फैसला लिया है। हाल ही में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पश्चिम बंगाल में अपनी सभी रैलियों को स्थगित करने का ऐलान किया था। इसके अलावा ममता बनर्जी भी अपने कार्यक्रमों को सीमित करने का फैसला कर चुकी हैं। बीते कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर बीजेपी नेताओं पर यह कहते हुए निशाना साधा जा रहा था कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच इस तरह की रैलियां कैसे की जा सकती हैं।

यहां तक कि बीते सप्ताह चुनाव आयोग ने राज्य सभी पार्टियों के साथ मीटिंग की थी और कोरोना प्रोटोकॉल को सख्ती के साथ लागू किए जाने की बात कही थी। राज्य की सीएम ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग से आखिरी तीन राउंड की वोटिंग एक साथ ही कराने की अपील भी की थी, हालांकि आयोग ने इसे खारिज कर दिया। वहीं बीजेपी का कहना था कि चुनाव तय नियमों के साथ ही होने चाहिए, लेकिन कोरोना प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित किया जाए। पश्चिम बंगाल में 294 विधानसभा सीटों पर 8 राउंट में वोटिंग होनी है। इनमें से 5 चरणों का मतदान हो चुका है और आखिरी के तीन राउंड बाकी हैं। राज्य में 29 अप्रैल को आखिरी चरण की वोटिंग होगी और 5 राज्यों के साथ ही 2 मई को चुनावी नतीजों का ऐलान होगा।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *