दिल्ली: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने राज्य सरकारों के साथ मीटिंग में कहा कि कोरोना वैक्सीन की अभी कोई कमी नहीं है. बड़े राज्यों को 4 दिनों और छोटे राज्यों को 7 दिनों के अंतराल में वैक्सीन उपलब्ध कराई जा रही है. डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि ऐसी स्थिति में यदि किसी राज्य को वैक्सीन की अतिरिक्त आवश्यकता महसूस होती है तो वो राज्य केंद्र सरकार से इस मुद्दे पर चर्चा कर सकता है.

हर्षवर्धन ने राज्य सरकारों से कहा कि केंद्र सरकार ने कोरोना महामारी के लिए राज्य सरकारों को एक अच्छा खासा फंड प्रदान किया था. राज्य सरकारें उसका सदुपयोग करें. डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि ऑक्सीजन की सप्लाई के लिए केंद्र ने 30 अप्रैल तक का कैलेंडर जारी किया है और ऑक्सीजन की उपलब्धता पर भी स्पष्ट खाका पेश किया गया है. उन्होंने आगे कहा कि, केंद्र की तरफ से राज्यों को गत वर्ष भी कोरोना मरीजों के लिए वेंटिलेटर उपलब्ध कराए गए थे और हाल ही में महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, गुजरात, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश सहित अन्य राज्यों द्वारा वेंटिलेटर की मांग की गई है, जिन्हें जल्द ही पूरा किया जाएगा.

केन्द्रीय मंत्री ने राज्यों से अस्पतालों में बेड की किल्लत को लेकर कहा कि कई राज्यों में ऐसा मीडिया के हवाले से सामने आया है कि अस्पतालों में बेड नहीं है और लोगों को बेड नहीं मिलने के कारण भारी समस्याओं का सामना करना पड़ा रहा है. उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के लिए विशेष रूप से तैयार किए गए 2,084 अस्पतालों में 4,67,974 बेड हैं. इसके साथ ही कोरोना मरीजों के लिए भी बेड की व्यवस्था की गई है.

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed