लखनऊ: उत्तर प्रदेश में जिस तेजी से कोरोना फ़ैल रहा है, उसे देखते हुए अब कठोर फैसले लिए जा रहे हैं. कई स्थानों को कोविड सेंटर में तब्दील करने की तैयारी की जा रही है. लखनऊ में भी 1000 बेड वाला अस्पताल बनाने का निर्णय लिया गया है. अब खबर आ रही है कि इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के हॉस्टलों को कोरोना वार्ड में बदलने की तैयारी है, पत्र भेजकर छात्रावास खाली कराने का आग्रह किया गया है.

कुलपति के निर्देश पर DSW को पत्र भेजकर हॉस्टल खाली कराने के लिए कहा गया है. जारी किए गए पत्र में सभी छात्रों से अपील की गई है कि वे हॉस्टल को खाली करें. बढ़ते मामलों के मद्देनज़र यूनिवर्सिटी को लगता है कि आने वाले दिनों में हॉस्टलों को भी अस्थाई तौर पर अस्पतालों में बदला जा सकता है. पत्र में लिखा गया है कि, बढ़ते मामलों और अस्पताल में बेड की किल्लत की बात कही गई है, और राज्य में डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट लागू है और ये एक्ट आपदा से निपटने के लिए लगाया गया है.

क्योंकि अस्पतालों में बेड की किल्लत देखने को मिल रहीं है, इसलिए हॉस्टलों को अस्थाई रूप में अस्पतालों में बदल दिया जाए. वही कोरोना के कारण इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं ऑनलाइन मोड़ में कर दी हैं और सुरक्षा के कारण छात्र घर पर सुरक्षित रहें,और हॉस्टल खाली करें.

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed