पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने आरोप लगाया है कि राज्य में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की रैली में भाग लेने और आयोजन करने वाले लोग बाहरी राज्यों से आ रहे हैं और उन्हीं के कारण बंगाल में कोरोना बढ़ रहा है। उन्होंने चुनाव आयोग से बाहर से आने वाले लोगों के राज्य में प्रवेश की अनुमति देने के लिए निगेटिव आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट को अनिवार्य करने का अनुरोध किया है।

शुक्रवार को उत्तर 24 परगना में एक सार्वजनिक रैली में ममता बनर्जी ने कहा, ”नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार ने चुनाव कराने के लिए कोरोना के संक्रमण की उपेक्षा की है। यही वजह है कि राज्य में मामले लगातार बढ़ रहे हैं। हम भारत के चुनाव आयोग से आग्रह करेंगे कि अब किसी को भी Covid-19 RT-PCR टेस्ट की निगेटव रिपोर्ट के साथ ही बंगाल में प्रवेश करने की अनुमति दे।“

ममता बनर्जी के इस आरोप पर बीजेपी ने पलटवार किया है। बीजेपी प्रवक्ता सामिक भट्टाचार्य ने कहा, “सीएम को यह कहते हुए सुनकर कि मोदी कोरोना का प्रसार कर रहे हैं, भारत के भीतर और यहां तक कि विदेशों में भी कोई भी व्यक्ति हंसेगा। मोदी सरकार इस बीमारी से लड़ने के लिए कई अन्य देशों की मदद कर रही है। टीएमसी जानती है कि वे हारने जा रही हैं और इसलिए इस तरह की बयानबाजी कर रही है।”   

उन्होंने कहा बतौर सीएम उन्हें यह बयान देना चाहिए कि बाहरी लोग यहां कोरोना का प्रसार कर रहे हैं, क्योंकि बंगाल से लाखों लोग दूसरे राज्यों में काम करने जाते हैं। राज्य में रोजगार का कोई अवसर नहीं है। आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल ने गुरुवार को 6769 नए मामले सामने आए हैं। 

ममता बनर्जी ने कहा, “मोदी की रैली आयोजित करने, पांडाल बनाने के लिए राज्य के बाहर से हजारों लोग बंगाल आ रहे हैं। सभी होटल और गेस्ट हाउस बुक किए जा रहे हैं। मुझे कैसे पता चलेगा कि वे कोरोना संक्रमित हैं या नहीं? वे किसी भी RT-PCR परीक्षण से नहीं गुजरते।”

टीएमसी सुप्रीमो ने बीते कुछ दिनों पहले आरोप लगाए थे कि बंगाल में कोरोना के मामलों में बाहरी लोगों के कारण तेजी से वृद्धि हुई है। ये बाहरी लोग भाजपा नेताओं के साथ बंगाल आ रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘हम चुनाव आयोग से निगेटिव रिपोर्ट के बिना बंगाल में बाहरी लोगों की एंट्री की अनुमति नहीं देने का आग्रह करेंगे। प्रधानमंत्री का स्वागत है। लेकिन उन्हें राजस्थान, गुजरात, उत्तर प्रदेश और राजस्थान से लोगों को क्यों लाना चाहिए? कोरोना परीक्षणों से गुजरने के बाद स्थानीय लोगों द्वारा पंडालों बनानी चाहिए। नरेंद्र मोदी हम आपसे बार-बार आग्रह कर रहे हैं कि बंगाल में कोरोना का प्रसार न करें। आपने राजनीति के अलावा कुछ नहीं किया।”

ममता बनर्जी ने गुरुवार को एक ट्वीट में भारत के चुनाव आयोग से विधानसभा चुनाव के शेष चरण को एक बार में रोकने का आग्रह किया था। पोल पैनल ने हालांकि कहा है कि एक बार में शेष चरणों को रखने की कोई योजना नहीं है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *