समुद्री प्रहरी के रूप में देश की रक्षा में लगे भारतीय कोस्ट गार्ड को और मजबूत करने के लिए हाल ही में मेड इन इंडिया के तहत दो ‘ग्रीन हेलीकॉप्टर’ सौंपे गए। इसी क्रम में सैन्य बलों के प्रमुख ​​सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने बुधवार सुबह भारतीय ​​तटरक्षक जहाज ‘वज्र’ ​​राष्ट्र को समर्पित किया​।​​ तटीय सुरक्षा बढ़ाने वाला यह ​छठा स्वदेशी अपतटीय गश्ती जहाज है।

वज्र जहाज की खासियत

> वज्र जहाज को स्वदेशी तौर पर लार्सन एंड टुब्रो शिप बिल्डिंग लिमिटेड ​ने डिजाइन और निर्मित किया ​है।

​ ​ > सात अपतटीय गश्ती जहाजों की श्रृंखला में छठा​ जहाज ‘वज्र​’​ अत्यधिक परिष्कृत नेविगेशन और संचार प्रणालियों के साथ सुसज्जित है।​

> जहाज में मुख्य हथियार के रूप में एक 30 मिलीमीटर​ की बंदूक ​लगाई गई ​है​​।​ इसके अलावा 2 एफसीएस नियंत्रित 12.7 मिलीमीटर की स्थिर रिमोट कंट्रोल गन​ से यह जहाज लैस है। इन हथियारों से ​लड़ने की दक्षता में वृद्धि ​होगी​​।​

> पोत ​में कई हाई-टेक ​खासियत भी ​हैं ​जिनमें एकीकृत पुल प्रणाली, उच्च शक्ति ​वाली ​बाहरी लड़ाई प्रणाली, धनुष थ्रस्टर और स्वचालित बिजली प्रबंधन प्रणाली​ शामिल है​।

> जहाज को ​रात की उड़ान क्षमताओं के साथ एक जुड़वां इंजन ​वाले ​हेलीकॉप्टर ​को ​ले जाने के लिए डिजाइन किया गया है।​

>​ यह जहाज चार उच्च गति वाली नावों, दो कठोर पतवार वाली नावों को खोज, बचाव और समुद्री गश्त के लिए ले जाने ​में सक्षम है​​।​

>​ समुद्र में तेल फैलने ​से होने वाले प्रदूषण ​को रोकने के लिए भी जहाज में ​उपकरण ​लगाया ​गया है​​।

> ​इसका इंजन प्रति घंटे 26 समुद्री मील की उच्च गति ​के साथ ​5 हजार समुद्री मील की दूरी हासिल करने में सक्षम है​​।​ चेन्नई में कोस्ट गार्ड के एक आयोजन में महानिदेशक के. नटराजन ​​की उपस्थिति में आयोजन सम्पन्न हुआ।

कोस्ट गार्ड के ​प्रवक्ता के मुताबिक इस ​जहाज के कमांडिंग ऑफिसर ​​उप महानिरीक्षक एलेक्स थॉमस ​हैं​​​​। इस पर 14 महिला और 88 पुरुष अधिकारी ​तैनात ​होंगे।​ यह जहाज तूतीकोरिन​ बंदरगाह पर ​तैनात रहते हुए तटरक्षक पूर्वी क्षेत्र​ के ​परिचालन नियंत्रण में होगा​।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *