सांसद प्रवेश साहिब सिंह ने ट्वीट में लिखा, ‘टीएमसी के गुंडों ने चुनाव जीतते ही हमारे कार्यकर्ताओं को जान से मारा, भाजपा कार्यकर्ताओं की गाड़ियां तोड़ीं, घर में आग लगा रहें हैं। याद रखना टीएमसी के सांसद, मुख्यमंत्री, विधायकों को दिल्ली में भी आना होगा, इसको चेतावनी समझ लेना। चुनाव में हार-जीत होती है, मर्डर नहीं।’

नई दिल्ली, पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के दौरान राजनीतिक पार्टियों व असामाजिक तत्वों के बीच हिंसा की कई खबरें सामने आईं। हालांकि, अब राज्य में चुनाव प्रक्रिया समाप्त होने और नतीजे घोषित किए जाने के बावजूद हिंसा की जा रही है। भाजपा सांसद प्रवेश साहिब सिंह वर्मा ने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के लोगों पर हिंसा व कत्ल करने का संगीन आरोप लगाया है। वर्मा का कहना है कि पश्चिम बंगाल में टीएमसी की जीत के बाद पार्टी के ‘गुंडों’ ने भाजपा कार्यकर्ताओं की पिटाई की है। इतना ही नहीं प्रवेश ने टीएमसी को चेतावनी भी दी है। उन्होंने कहा कि टीएमसी के सांसदों, मुख्यमंत्री और विधायकों को भी दिल्ली आना है। 

ट्वीट कर दी चेतावनी  
पश्चिमी दिल्ली से भाजपा सांसद प्रवेश साहिब सिंह ने ट्वीट कर टीएमसी को आड़े हाथों लिया। उन्होंने लिखा, ‘टीएमसी के गुंडों ने चुनाव जीतते ही हमारे कार्यकर्ताओं को जान से मारा, भाजपा कार्यकर्ताओं की गाड़ियां तोड़ीं, घर में आग लगा रहे हैं। याद रखना टीएमसी के सांसद, मुख्यमंत्री, विधायकों को दिल्ली में भी आना होगा, इसको चेतावनी समझ लेना। चुनाव में हार-जीत होती है, मर्डर नहीं।’

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मामले में लिया संज्ञान
इधर, पश्चिम बंगाल चुनाव में टीएमसी की जीत के बाद रविवार (2 मई) को हुगली में हिंसा भड़क गई। यहां के आरामबाग स्थित भाजपा कार्यालय को भी कुछ अज्ञात बदमाशों ने आग के हवाले कर दिया। ऐसे में पश्चिम बंगाल में लगातार जारी राजनीतिक हिंसाओं और 11 लोगों की मौत के बाद अब केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मामले में संज्ञान लिया है। मंत्रालय ने प्रदेश में चुनाव के बाद विपक्षी दल के नेताओं को टारगेट कर की गई हिंसाओं की रिपोर्ट राज्य सरकार से मांगी है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *