दिल्ली में कोरोना का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा है। रोजाना 20 हजार से ज्यादा नए मरीज सामने आ रहे हैं वहीं, 300 से ज्यादा कोरोना मरीज अपनी जान गवां रहे हैं। इसी बीच दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने सेना से मदद मांगी है। डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने रविवार को सेना को लेटर लिख मदद करने की मांग की है। 

शनिवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने अस्पतालों में ऑक्सीजन सप्लाई, बेड और दवाओं की कमी को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई की जिसमें कोर्ट ने दिल्ली सरकार को जमकर फटकार लगाई थी। कोर्ट ने राज्य सरकार को दिल्ली में अधिक बुनियादी ढांचे की स्थापना के लिए सशस्त्र बलों की मदद लेनी को कहा था। इसके बाद रविवार को दिल्ली सरकार ने सेना से मदद मांगी है।

delhi govt sought help from army

दिल्ली सरकार नहीं कर पा रही है तो बताएं, LG संभाल लेंगे जिम्मेदारी : केंद्र
केंद्र सरकार ने रविवार को हाईकोर्ट को बताया यदि दिल्ली सरकार जिम्मेदारी नहीं संभाल पा रही है तो हमें (केंद्र) को बताए, हम उपराज्यपाल से कहेंगे, दिल्ली की जिम्मेदारी संभाल लेंगे। सरकार की ओर से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने यह दलील तब दिया जब कोर्ट ने कहा कि अभी कुछ दिन पहले ही आपने (केंद्र) ने अधिसूचना जारी कर दिल्ली सरकार का मतलब उपराज्यपाल बताया है।

दिल्ली को 454 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मिला
हाईकोर्ट की फटकार के बाद दिल्ली को कुल 454 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति हुई है। यह आपूर्ति बीते अब तक की एक दिन में सबसे अधिक है। दिल्ली सरकार का कहना है कि उन्हें अब भी जरूरत के मुताबिक ऑक्सीजन नहीं मिल रहा है। जिससे दिल्ली के अस्पतालों में रविवार को दिनभर इमरजेंसी की स्थिति बनी हुई है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed