उत्तर प्रदेश के सूचना व एमएसएमई विभाग के अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल ने बताया कि प्रत्येक जिले की दो सीएचसी में 20 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की व्यवस्था करायी जा रही है। इस तरह ग्रामीण क्षेत्र में मेडिकल किट के साथ-साथ ऑक्सीजन की भी व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि अब तक उत्तर प्रदेश में 4.10 करोड़ टेस्ट हो चुके हैं। सभी टेस्ट पोर्टल पर दर्ज किये जा रहे हैं।

नवनीत सहगल ने शनिवार को बताया कि सरकार द्वारा प्रदेशभर में 500 क्वारंटीन सेंटर बनाये गये हैं। इन समितियों द्वारा कोविड संक्रमित लोगों को दवा उपलब्ध करायी जा रही है। उन्होंने बताया कि बिना पंजीकरण के 18 से 44 वर्ष के आयु वाले लोगों का वैक्सीनेशन नहीं किया जायेगा। उन्होंने बताया कि अस्पतालों में बनाये गये प्रभारी अधीक्षक-नोडल अधिकारी अपने अस्पतालों में भर्ती होने वाले कोविड संक्रमित मरीजों के परिवारजनों से संवाद करते हुए भर्ती मरीज की जानकारी देना सुनिश्चित कराएंगे।

उन्होंने बताया कि एक नई व्यवस्था के तहत कृषक उत्पादक संगठनों (एफपीओ) को भी क्रय केन्द्र खोलने की अनुमति दी गयी है। किसान उत्पादक संगठन 150 केन्द्रों के माध्यम से संचालित किया उन्होंने जिलाधिकारियों के द्वारा कृषक उत्पादक संगठनों (एफपीओ) को भी क्रय केन्द्रों से जोड़कर गेहूं क्रय का कार्यक्रम शुरू कर दिया गया है। यह व्यवस्था प्रदेश में पहली बार हो रही है।

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना से संक्रमित 30,317 नये मामले आये हैं तथा 38,826 मरीज संक्रमणमुक्त हुए हैं। इस प्रकार अब तक कुल 9,67,797 से अधिक लोग कोविड संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। प्रदेश में कुल कोरोना के एक्टिव मामलों में से 2,47,257 व्यक्ति होम आइसोलेशन में हैं।

अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि सर्विलांस की कार्यवाही निरन्तर चल रही है। प्रदेश में अब तक सर्विलांस टीम के माध्यम से 2,44,680 क्षेत्रों में 5,84,743 टीम दिवस के माध्यम से 3,38,99,259 घरों के 16,35,77,129 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। अब तक 1,02,44,986 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज दी गई तथा पहली डोज वाले लोगों में से 23,22,998 लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज दी गई। इस प्रकार कुल 1,25,87,984 वैक्सीन की डोज लगायी जा चुकी है। जो लोग होम आइसोलेशन में हैं अगर वे डाक्टर की सलाह लेना चाहते हैं तो, वे 18001805146, 18001805145 इस हेल्पलाइन पर सम्पर्क कर सकते हैं।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *