नोएडा:जरूरतमंदों को 25 से 35 हजार रुपये में रेमडेसिविर इंजेक्शन देने वाले दिल्ली के लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल के डॉ. निशरत इमाम, साहिबाबाद निवासी हमजा व मुजीब उर रहमान को पुलिस ने गुरुवार देर रात गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने तीनों को शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

डीसीपी क्राइम अभिषेक सिंह ने बताया कि क्राइम ब्रांच और थाना सेक्टर-24 पुलिस ने एक सूचना के आधार पर गुरुवार रात रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले तीन लोगों को गिरफ्तार किया। इनके पास से तीन रेमडेसिविर इंजेक्शन भी बरामद हुए हैं।

25 से 35 हजार में बेचते थे इंजेक्शन

पूछताछ में पता चला कि गिरफ्तार आरोपियों में डॉक्टर इमाम दिल्ली के लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल में एनेस्थेसिस्ट है। डॉक्टर इमाम कोरोना के कारण दम तोड़ने वाले या मरीजों के बचे हुए इंजेक्शन बाकी दोनों साथियों की मदद से बाजार में 25 से 35 हजार रुपये में बेचता था और मुनाफा तीनों बांट लेते थे। इन लोगों के खिलाफ एनएसए के तहत कार्रवाई की जाएगी।

डीसीपी ने बताया कि आरोपियों से पूछताछ में पता चला है कि दिल्ली और एनसीआर के अलग-अलग अस्पतालों में डॉक्टर इमाम के कुछ रिश्तेदार भी इस कालाबाजारी में शामिल हैं। जल्द ही और गिरफ्तारियां भी हो सकती हैं।कानपुर में भी चार अरेस्टकानपुर पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एलएलआर अस्पताल से रेमडेसिविर इंजेक्शन चुराकर बेचने के आरोप में सितांशु, विक्रम, अंशुल और आयुष को गिरफ्तार किया है। इनमें से विक्रम एलएलआर अस्पताल का नर्सिंग कर्मचारी है, जबकि आयुष रामकली अस्पताल का ओपीडी स्टाफ है। इन लोगों ने 5-6 वॉयल चुराने की बात कुबूली है।

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *