देश में कोरोना के बढ़ते प्रभाव से बचने के लिये लहसुन,अदरख और खट्टे फलों का सेवन उपयोगी साबित हो सकता है। कोरोना संक्रमण से बचने के लिये सबसे पहले इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए पूरा प्रयास करना होगा। ऐसी कई बीमारियां होती हैं जिनसे हमारा शरीर खुद ही निपट लेता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता के कमजोर होने पर बीमारियों का असर जल्दी होता है, ऐसे में शरीर कमजोर हो जाता है और हम जल्दी-जल्दी बीमार पड़ने लगते हैं। इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए लहसुन, अदरक, खट्टे फल बहुत ही कारगर है।

लहसुन और अश्वगंधा से बढ़ती है इम्युनिटी 
लहसुन, अश्वगंधा और अदरक जैसी हर्ब्स में हमारी इम्युनिटी को बढ़ाने की क्षमता होती है और ये शरीर को संक्रमणों से लड़ने के लिए तैयार करती हैं,इनमें से सभी या किसी एक का भी अगर नियमित रूप से सेवन करेंगे तो संक्रमण होने की आशंका काफी हद तक कम हो जाएगी। तुलसी के पत्ते का काढ़ा भी बहुत फायदेमन्द है। कोरोना काल मे शराब का सेवन न करे तो बेहतर ही हो होगा।

डाइट के साथ फिजिकल वर्क भी जरूरी 
रोज की डाइट में कुछ खट्टे फल भी जरूर शामिल कीजिए। ये नींबू से लेकर संतरे, मौसंबी तक कुछ भी हो सकते हैं। अगर ये न खा सकें तो रोजाना कम से कम एक आंवला खाना भी पयार्प्त होगा।वर्तमान समय मे आम का सीजन शुरू हो गया है आम गांव से लेकर शहर तक बिकता है गांवो मे तो लोगो के पास बागीचे है आम की चटनी का सेवन बहुत ही लाभदायक है। खट्टे फल विटामिन सी के अच्छे स्रोत होते हैं जो फ्री रेडिकल्स के असर को कम कर रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। जल्दी उठने के साथ ही नियमित तौर पर वॉकिंग और कसरत या योग करना भी जरूरी है। हल्के हाथों से शरीर की मालिश भी करेंगे तो और भी बेहतर रहेगा।

गर्मियों में भी सुबह की धूप जरूरी 
मॉर्निंग वॉक, मालिश और कसरत योग से शरीर में ऐसे एंजाइम्स और हॉमोर्न स्रावित होते हैं जो हमारी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर कोरोनावायरस जैसे फ्लू से भी बचाव करने में सहायक होते हैं। साथ ही यह भी कोशिश करें कि मॉर्निंग वॉक और कसरत का समय ऐसा हो कि आपके शरीर को सुबह की 20 से 30 मिनट तक धूप भी मिल सके। मॉयो क्लीनिक सहित कई संस्थानों द्वारा की गई रिसर्च में इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि सुबह की धूप रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मददगार होती है। उन्होने बताया कि रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मेटाबॉलिज्म का महत्व होता है।

ब्रेक में कुछ न कुछ खाते रहें 
हमारा मेटाबॉलिज्म जितना अच्छा होगा, हमारी रोग-प्रतिरोधक क्षमता भी उतनी ही बेहतर होगी। मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के लिए न केवल सुबह का नाश्ता जरूरी है, बल्कि चार-चार घंटे के अंतराल पर कुछ हेल्दी खाना भी आवश्यक है। अपनी डाइट में रोजाना दही या छाछ (मठा) अथवा दूध-पनीर जैसी चीजों को भी अवश्य शामिल करें जिनके गुड बैक्टीरिया आपको बीमार होने से बचाएंगे।
 

By anita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *